जल्लीकट्टू प्रतियोगिता में 2 लोगों की मौत

 
जल्लीकट्टू प्रतियोगिता में 2 लोगों की मौततमिलनाडु के विरालिमलाई में रविवार को 1000 सांडों के साथ मेगा जल्लीकट्टू आयोजित कराने का रेकॉर्ड सेट किया गया लेकिन दर्शकों में से दो लोगों की मौत होने के बाद सभी का उत्साह ठंडा पड़ गया। कड़ी सुरक्षा और सिक्यॉरिटी के बाद भी सांडों की टक्कर लगने से 32 वर्षीय रामू और 35 वर्षीय सतीश कुमार की रविवार को मौत हो गई।
विरालिमलाई में रविवार को दोपहर 1 बजे जब प्रतियोगिता शुरू हुई तो सांड यहां-वहां भागने लगे। इन्हीं में से एक सांड ने रामू और दूसरे सांड ने सतीश को
टक्कर मार दी। दोनों को अस्पताल ले जाया गया लेकिन उन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। रामू पुडुक्कोट्टाई जिले और सतीश त्रिची का निवासी था।
20 से ज्यादा लोग घायल 
आयोजन का उद्घाटन सुबह 8 बजे मुख्यमंत्री ई पलनिसामी ने किया था। इसमें 20 से ज्यादा लोग घायल हो गए। आयोजनकर्ता सबसे ज्यादा सांडों और दर्शकों को शामिल कर विश्व रेकॉर्ड बनाने की कोशिश में थे। वर्ल्ड रेकॉर्ड यूनियन की एक टीम भी वहां मौजूद थी। स्वास्थ्य मंत्री सी विजय भास्कर ने इसके आयोजन में खास दिलचस्पी दिखाई ताकि यह कार्यक्रम भव्यता से आयोजित किया जा सके।
सांडों के मालिकों का बीमा भी किया गया जो जल्लीकट्टू के इतिहास में पहली बार हुआ है। इस प्रतियोगिता में 500 मालिकों ने हिस्सा लिया। बेस्ट टेमर्स (ट्रेनर्स) को दो कारें, 10 मोटरसाइकलें, 500 साइकलें, सोने और चांदी के सिक्के दिए जाएंगे। आयोजन में उपमुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम और दूसरे मंत्री मौजूद रहे।

From around the web