4 कश्मीरी संदिग्ध को हिरासत में लिया गया

 
4 कश्मीरी संदिग्ध को हिरासत में लिया गयाकौशाम्बी।  खुफिया एजेंसी की सूचना पर ऐतिहासिक कस्बा कड़ा में घूम रहे चार संदिग्ध को पुलिस ने हिरासत में लिया है। पकड़े गये लोगो में दो महिलाएं व दो पुरुष हैं, जो कश्मीर के रहने वाले बताए जा रहे हैं। प्रयागराज कुम्भ से पूर्व संदिग्धों को हिरासत में लिए जाने से इलाके में दहशत का माहौल है।

आईबी ने सैनी कोतवाली के देवीगंज चौकी पुलिस के सहयोग से कड़ा क्षेत्र में घूम रहे चार संदिग्धों को हिरासत में लिया। चारों को चौकी में ले जाकर पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि वह अखरोट बेचने व चंदा मांगने कर लिए निकले हैं।

हिरासत में लिए गए शब्बीर अहमद व उसकी पत्नी ताहिरा निवासी बंगाहाल, दपुसर, कुलगांव, रईस व रीनू निवासी अविल कुलगांव की तलाशी के दौरान संदिग्धों के पास से दो छोटे बैग से सिर्फ दो पैकेट अखरोट निकले। चंदा मांगने की बात भी जांच एजेंसी को हजम नही हुई। उनके पास से चंद मांगने की रसीद आदि भी नही मिली।

हिरासत में लिए गए चारों संदिग्ध कड़ा क्षेत्र में पिछले तीन दिनों से दिखाई दे रहे थे, इनका कहना है कि वह कमरे की तलाश में थे, जहां रुककर वह अपना कारोबार करते। यह लोग प्रयागराज में शाहगंज थाना के पास दाराशाह अजमल मुहल्ले में शौकत उल्ला के यहां ठहरे हुए हैं। तकरीबन दो घण्टे के पूछताछ के बाद पुलिस संदिग्धों से कुछ खास जानकारी हासिल नहीं कर पाई।

एसपी प्रदीप गुप्ता का कहना है कि कश्मीर के कुछ संदिग्धों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है जो तथ्य निकल कर सामने आएंगे, उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

दो पैकेट अखरोट बेचने कश्मीर से कौशाम्बी पहुंचे हिरासत में लिए गए संदिग्धों की तलाशी में दो बैग से सिर्फ दो पैकेट अखरोट निकले, जिनका वजन दो किलो भी नही है। पूछताछ में संदिग्धों ने बताया कि वह अखरोट बेचने निकले है।

अब सवाल यह कि एक हजार किमी से अधिक की दूरी तय कर कश्मीर से कौशाम्बी सिर्फ दो पैकेट अखरोट बेचने आये हैं, चंदा मांगने की बात भी गले नही उत्तर रही है। संदिग्धों से फिलहाल पूछताछ जारी है। आईबी की टीम को चारों संदिग्ध एक जैसा जवाब जरूर दे रहे हैं लेकिन उनकी गतिविधियां ठीक नही लग रही हैं।

हिरासत में लिए गए रईस व रीनू आपस मे भाई बहन है। दोनों ही कश्मीर के केबी पूरा हायर सेकेंड्री स्कूल में खुद को 12वीं का छात्र बात रहे हैं। रईस के पास से रजिस्ट्रेशन कार्ड भी बरामद हुआ है। इन दोनों की बहन ताहिरा व बहनोई शब्बीर भी साथ में यहां आये हैं । ताहिरा नवीं जमात व शब्बीर आठवीं जमात तक पढ़ा है।

From around the web