मोदी सरकार का एयरफोर्स को बड़ा तोहफा, इजरायल से मंगाए जाएंगे 54 हारोप ड्रोन

 
मोदी सरकार का एयरफोर्स को बड़ा तोहफा, इजरायल से मंगाए जाएंगे 54 हारोप ड्रोनभारतीय वायु सेना की मानवरहित युद्ध क्षमता को और मजबूत बनाने के लिए रक्षा मंत्रालय ने 54 इजरायली हारोप ड्रोन की खरीद को मंजूरी दे दी है. ये किलर ड्रोन दुश्मन के हाई-वैल्यू मिलिट्री टारगेट को पूरी तरह से नेस्तनाबूद कर सकता है.
सूत्रों के मुताबिक पिछले हफ्ते एक उच्च स्तरीय बैठक में रक्षा मंत्रालय ने इन 54 हमलावर ड्रोनों की खरीद को मंजूरी दे दी थी. खबरों के मुताबिक ये ड्रोन चीन और पाकिस्तान की सीमाओं पर तैनात किए जाएंगे.
क्या है खासियत?
आपको बता दें ये ड्रोन इलेक्ट्रो-ऑप्टिकल सेंसर से लैस होते हैं. जो विस्फोट करने से पहले हाई वैल्यू वाले सैन्य ठिकानों जैसे निगरानी के ठिकाने और रडार स्टेशनों पर निगरानी भी कर सकते हैं. इजराइल के हारोप ड्रोन दुश्मन ठिकानों पर क्रैश होकर उन्हें तबाह कर देते हैं. इनमें इलेक्ट्रो ऑप्टिकल सेंसर भी लगा होता है, जिससे ठिकाने के बारे में भी पता लगाया जा सकता है. मौजूदा समय में वायुसेना के पास ऐसे 110 ड्रोन हैं, जिनका नाम पी-4 रखा गया है.
वैसे सिर्फ वायुसेना ही नहीं, मोदी सरकार ने नौसेना के लिए 111 हेलिकॉप्टर खरीदने का फैसला किया है. ये सभी हेलिकॉप्टर रणनीतिगत साझेदारी (एसपी) मॉडल के तहत खरीदे जाएंगे. आर्मी के लिए भी 72 हजार सिग सॉर असॉल्ट राइफल्स खरीदे जाएंगे. इसके लिए मोदी सरकार ने जर्मनी की कंपनी से करार किया है. यह निर्णय फास्ट्रैक प्रक्रिया के तहत लिया गया है.

From around the web