पूर्ण बहुमत ने 30 साल की त्रिशंकु की बीमारी से दिलाया छुटकारा: PM मोदी

 
पूर्ण बहुमत ने 30 साल की त्रिशंकु की बीमारी से दिलाया छुटकारा: PM मोदीसूरत। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मिशन गुजरात के तहत बुधवार को सूरत पहुंचे। यहां उन्होंने सूरत एयरपोर्ट के नए टर्मिनल के विस्तार की नींव रखी और सूरत में विकासकार्य तेजी से किए जाने का दावा और आगे भी तेजी बनाए रखने का वादा किया। जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने आगामी लोकसभा चुनाव के लिए भी पूर्ण बहुमत की सरकार का तीर छोड़ दिया। उन्होंने कहा कि 2014 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को पूर्ण बहुमत मिलने के कारण ही देश में बदलाव का दौर चल रहा है। पूर्ण बहुमत की सरकार आने से देश को त्रिशंकु की 30 साल की बीमारी से छुटकारा मिला है।
गौरतलब है कि आगामी लोकसभा चुनाव के लिए विपक्ष एकजुट हो रहा है और मिलकर चुनाव लडऩे या चुनाव के बाद गठबंधन के संकेत दे रहा है। ऐसे में पीएम ने पूर्ण बहुमत की सरकार की अहमियत बताई है। उन्होंने यह भी कहा कि त्रिशंकु सरकार होने से कोई काम नहीं पूरा करने पर मिली-जुली सरकार की मजबूरियों का हवाला दिया जा सकता है, जबकि पूर्ण बहुमत होने पर सरकार की जवाबदेही होती है। 
त्रिशंकु की बीमारी से निजात 
उड़े देश का आम नागरिक और आवास योजना के तहत लोगों को फायदा होने को लेकर पीएम ने कहा कि ये योजनाएं किसी एक व्यक्ति या पार्टी की वजह से नहीं बल्कि चुनाव में पूर्ण बहुमत मिलने दी जा सकी हैं। उन्होंने कहा कि बदलाव का दौर लोगों के वोट की ताकत के कारण हैं, न कि मोदी की ताकत के कारण। पीएम ने कहा कि 30 साल तक देश में जोड़-तोड़ से सरकार चलाने की कोशिशें की जाती रहीं। 
उन्होंने कहा कि लोगों के एक-एक वोट से मिले पूर्ण बहुमत से देश को त्रिशंकु की 30 साल की बीमारी से छुटकारा मिला। पीएम ने युवा पीढ़ी से यह सीखने के लिए कहा कि बहुमत से आई सरकार कड़े और बड़े फैसले ले सकती है और हिम्मत के साथ देश को आगे बढ़ा सकती है। उन्होंने कहा कि पूर्ण बहुमत की सरकार की जवाबदेह होती है। 
सूरत होगा सबसे आगे 
अपने भाषण में उन्होंने कहा कि एक रिपोर्ट के मुताबिक आनेवाले वर्षों में दुनिया में सबसे तेज विकसित होने वाले शहरों की लिस्ट में टॉप 10 शहर भारत के होंगे और सूरत उनमें सबसे आगे होगा। पीएम मोदी ने बताया कि नया टर्मिनल शुरू होने से यात्रियों और कार्गो दोनों की क्षमता बढ़ेगी, जिससे व्यापारियों को फायदा होगा। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की पुण्यतिथि पर सूरत और महात्मा गांधी के बीच गहरा संबंध बताया और कहा कि स्वच्छता हो, स्वावलंबन हो या फिर स्वदेशी, सूरत ने गांधी जी के सभी मूल्यों को हमेशा सम्मान दिया है।

From around the web