अंकिति ने 4 साल पहले बनाई कंपनी, आज अरबों में है वैल्यू...

 
अंकिति ने 4 साल पहले बनाई कंपनी, आज अरबों में है वैल्यू...अमेरिकी मैगजीन फॉर्च्यून की इस साल जारी होने वाली '40 अंडर 40' लिस्ट में शामिल होकर भारत की कारोबारी 27 साल की अंकिति बोस ने एक मिसाल कायम की है।

बता दें कि इस लिस्ट में शामिल होने वाली वह पहली भारतीय महिला हैं। अंकिति बोस ने 4 साल पहले जिलिंगो नाम की कंपनी की शुरुआत की थी।

यह कंपनी साउथ-ईस्ट एशिया के छोटे कारोबारियों को अपने प्रोडक्ट्स बेचने के लिए ऑनलाइन प्लैटफॉर्म मुहैया करवाती है। इस कंपनी का हेडक्वार्टर सिंगापुर में है। बता दें कि फिलहाल इस कंपनी का वैल्युएशन करीब 1 अरब डॉलर है।

फॉर्च्यून मैगजीन के मुताबिक, एक साल पहले तक दुनिया भर में 1 अरब डॉलर की वैल्युएशन वाली कंपनियों की फाउंडर्स में महिलाओं की संख्या सिर्फ 10 प्रतिशत ही थी।

फॉर्च्यून ने जिन 40 युवा आंत्रप्रेन्योर्स की लिस्ट जारी की है, उनमें 19 महिलाएं हैं। इनमें जिलिंगो की अंकिति बोस के अलावा अमेजन की वॉइस यूजर इंटरफेस डिजाइनर अलीसन एटवेल और पेप्सीको के बबली ब्रांड की डयरेक्टर ऑफ मार्केटिंग मैरिसा बार्टनिंग भी शामिल हैं।

अंकिति बोस ने जिलिंगो की शुरुआत साल 2014 के दिसंबर महीने में की थी। उस समय वह Sequoia India कंपनी में एनालिस्ट के पद पर काम कर रही थीं। साल 2014 में ही बेंगलुरु में हुई एक हाउस पार्टी में उनकी मुलाकात ध्रुव कपूर नाम के एक सॉफ्ट इंजीनियर से हुई।

वहीं दोनों ने बातचीत करने के बाद एक स्टार्टअप शुरू करने का फैसला किया। इस बातचीत के 4 महीने के बाद उन्होंने अपनी नौकरी छोड़ दी और दोनों ने 30,000 डॉलर (करीब 22 लाख रुपए ) की अपनी सेविंग्स से जिलिंगो की शुरुआत की। इसका मकसद साउथ-ईस्ट एशिया के छोटे व्यापारियों के लिए ऑनलाइन प्लैटफॉर्म मुहैया कराना था। इस स्टार्टअप को बहुत जल्दी सफलता मिली और बहुत से इन्वेस्टर्स ने इसमें पैसा लगाया। 

From around the web