जुमला और झूठे वादों का पुलिंदा है बजट, जनता को मूर्ख नहीं बनाया जा सकता : दिग्विजय

 
जुमला और झूठे वादों का पुलिंदा है बजट, जनता को मूर्ख नहीं बनाया जा सकता : दिग्विजय मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह  ने केंद्र सरकार की ओर से आज पेश किए गए अंतरिम बजट   को जुमला और झूठे वादों का पुलिंदा बताया है।
दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया कि इस बजट को जुमला या झूठे वादों का पुलिंदा ही कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि जनता को हर समय मूर्ख नहीं बनाया जा सकता
वहीं, कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने आज केंद्र सरकार की ओर से पेश अंतरिम बजट की आलोचना करते हुए कहा है कि किसानों का अपमान करने वाली सरकार क्या किसान सम्मान योजना चलाएगी।सिंधिया ने ट्वीट किया कि मोदी सरकार का किसानों को छह हजार रुपए की वार्षिक आय देने का फैसला भी उनके जुमलों की सूची में शामिल होगा। ये राशि भी वैसे ही उनके हाथ में कभी नहीं पहुंचेगी, जैसे फसल बीमा योजना और न्यूनतम समर्थन मूल्य का पैसा आज तक नहीं पहुंचा।
उन्होंने आगे कहा कि किसान का अपमान और उन पर वार करने वाली सरकार क्या किसान सम्मान योजना चलाएगी।

From around the web