CM की मौजूदगी में उतरवाए बुर्के, विरोध

 
CM की मौजूदगी में उतरवाए बुर्के, विरोधझारखंड के सीएम रघुबर दास के एक कार्यक्रम में महिलाओं के बुर्के और काले दुपट्टे उतारे जाने के विरोध में सोमवार को विपक्षी दलों ने प्रदर्शन किया। सदन की कार्यवाही शुरू होने के बाद जेएमएम विधायक जोबा मांझी ने मामले को सदस्यों के सामने उठाया। इस पर जेवीएम-पी के विधायकों ने भी उनका समर्थ किया।

पार्टी के एमएलए प्रदीप यादव ने जोबा का समर्थन करते हुए कहा कि 'मुख्यमंत्री को इस मुद्दे पर जवाब देने की जरूरत है। यह बहुत गंभीर है।'

गौरतलब है कि झारखंड के गिरिडीह जिले में सीएम के एक कार्यक्रम के दौरान महिलाओं के काले बुर्के और दुपट्टे जबरन उतार लिए गए थे। इस दौरान सीएम रघुबर दास वहां मौजूद थे। इसे लेकर विपक्षी दलों ने सरकार की तीखी आलोचना की थी।

विपक्षी दलों ने सोमवार को विधानसभा का सत्र शुरू होने के बाद दास के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया तथा उनसे इस पर जवाब देने को कहा। मामले पर बीजेपी विधायक बिरंचि नारायण ने सदन में सरकार का पक्ष रखा।

विपक्षी दलों को जवाब देते हुए सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के विधायक बिरंचि नारायण ने कहा, 'जब तक बुर्का नहीं हटाया जाएगा तब तक कैसे पहचाना जा सकेगा कि इसमें महिला है या आतंकी?'

बाद में मीडिया से बात करते हुए कांग्रेस विधायक गीता कोडफा ने कहा, 'एक तरफ राज्य सरकार महिला कल्याण से संबंधित कई योजनाएं शुरू कर रही है और दूसरी तरफ वह उन्हें प्रताड़ित भी कर रही है।' उन्होंने कहा कि इसका मतलब है कि योजनाएं केवल महिलाओं का समर्थन जुटाने के लिए हैं। 

From around the web