केंद्र ने कनेक्टिविटी बढ़ाने के महत्वपूर्ण प्रयास किए : मोदी

 
केंद्र ने कनेक्टिविटी बढ़ाने के महत्वपूर्ण प्रयास किए : मोदीधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि केंद्र ने पूरे देश में कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किए हैं। प्रधानमंत्री ने झारसुगुड़ा हवाईअड्डे का उद्घाटन करने के बाद कहा, "सभी तरह के विकास के लिए कनेक्टिविटी धुरी है। हमारी सरकार ने पूरे देश में संपर्क बढ़ाने के लिए महत्वपूर्ण प्रयास किया है।"

क्षेत्रीय हवाईअड्डा विकास परियोजना 'उड़ान' के अंतर्गत झारसुगुड़ा ओडिशा का दूसरा हवाईअड्डा बन गया है, जहां से भुवनेश्वर, रायपुर और रांची के लिए जरूरी कनेक्टिविटी मुहैया होगी।

मोदी ने हवाईअड्डे का नामकरण प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी वीर सुरेंद्र साई के नाम पर किया।

उन्होंने कहा, "झारसुगुड़ा में यह हवाईअड्डा ओडिशा के लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए अच्छी जगह पर स्थित है। यह राज्य का दूसरा हवाईअड्डा बनने जा रहा है। इस हवाईअड्डे के शुरू होने पर खुशी मनाने के बावजूद हमें इस पर आश्चर्यचकित होने की भी जरूरत है कि ओडिशा में दूसरा हवाईअड्डा बनने में इतने वर्ष क्यों लग गए।"

उन्होंने कहा कि भारत का विमानन क्षेत्र तेजी से बढ़ रहा है और यह 125 करोड़ भारतीयों के लिए शुभ संकेत है।

मोदी ने कहा कि हवाईअड्डा उद्योगों को राज्य में उनके व्यापार को बढ़ाने में भी मदद करेगा।

उन्होंने कहा, "तलचर में कार्यक्रम के बाद, मैं खुश हूं कि मैं झारसुगुड़ा में हवाईअड्डे और अन्य विकास परियोजनाओं का उद्घाटन करने के लिए यहां हूं। ये विकास कार्य ओडिशा के लोगों को काफी लाभ पहुंचाएंगे।"

इस अवसर पर, प्रधानमंत्री ने झारसुगुड़ा हवाईअड्डे से पहली उड़ान को हरी झंडी दिखाई और गर्जनबहल कोयला खदान परियोजना और सुंदरगढ़ जिले में झारसुगुड़ा-सारडेगा रेलवे लाइन को भी जनता को समर्पित किया। इसके साथ ही उन्होंने एनटीपीसी के दुलांगा कोयला खदान से कोयला उत्पादन और ढुलाई की शुरुआत की।

From around the web