'चौकीदारी के चक्कर मे फंसा ठेकेदार', 1 लाख जुर्माना, रेलवे ने खड़े किये हाथ

 
'चौकीदारी के चक्कर मे फंसा ठेकेदार', 1 लाख जुर्माना, रेलवे ने खड़े किये हाथराकेश पाण्डेय
लखनऊ।  आईआरसीटीसी और रेलवे में उस समय उथल पुथल मच गई और अब रेलवे ने इस बारे में सफाई दी है। साथ ही जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई भी की गई है। एक प्राइवेट वेंडर ने शताब्दी ट्रेन में चाय देने के लिए 'मैं भी चौकीदार' ब्रांडिंग वाले कपों का इस्तेमाल किया था। इन कपों से चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन का अंदेशा था।

एक ट्विटर यूजर ने इस बारे में ट्वीट करते हुए रेलवे और चुनाव आयोग का ध्यान आकर्षित किया। ट्विटर यूजर ने लिखा, 'शताब्दी ट्रेन ट्रेन नंबर 12040 में दो बार मैं भी चौकीदार ब्रांडिंग वाले कपों में चाय दी गई है। क्या यह चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है।' इस ट्वीट में उन्होंने चुनाव आयोग और रेलवे को टैग भी किया।


आईआरसीटीसी ने मामले में स्पष्टीकरण देते हुए कहा, 'मैं भी चौकीदार ब्रांडिंग वाले कपों में चाय देने के मामले की जांच की गई है। आरआरसीटीसी की अनुमति के बिना इन कपों का इस्तेमाल किया गया था। कपों को तत्काल प्रभाव से वापस ले लिया गया है। ऐसे कुछ कपों का इस्तेमाल किया जा रहा था। सुपरवाइजर से इस बारे में स्पष्टीकरण मांगा गया है। सर्विस प्रदाता पर 1 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है। इस घटना के लिए कारण बताओ नोटिस भी जारी किया गया है।

From around the web