16 साल की लड़की की टॉयलेट में हुई डिलीवरी, नवजात को पानी से फ्लश करने की कोशिश

 
16 साल की लड़की की टॉयलेट में हुई डिलीवरी, नवजात को पानी से फ्लश करने की कोशिश
नई दिल्ली। पंचकूला सेक्टर-6 के जनरल अस्पताल के टॉयलेट में एक नवजात बच्चा पड़ा मिला। मौके के हालात देखकर पता चल रहा था कि डिलीवरी टॉयलेट में ही हुई।

नवजात बच्चे को टॉयलेट सीट से बाहर निकालने के बजाय उसे पानी से फ्लश करने की कोशिश की गई, लेकिन बच्चा फ्लश नहीं हुआ।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार जांच में सामने आया है कि बच्चे को जन्म देने वाली 16 साल की नाबालिग है। उसे पेट में दर्द और कब्ज की शिकायत पर किसी डॉक्टर के कहने पर एडमिट किया गया था। इस बात का अस्पताल के डॉक्टरों और स्टाफ को तब पता चला जब टॉयलेट में एक महिला पहुंची।


इसके बाद स्टाफ ने बच्चे को बाहर निकाला और लेबर रूम में ले गए। जांच की गई तो बच्चा मर चुका था। इसके बाद पुलिस में शिकायत दी गई। पुलिस ने अज्ञात पर केस दर्ज कर लिया है। अस्पताल प्रबंधन ने भी जांच कमेटी गठित कर दी है।

From around the web