शादीशुदा महिला से प्रेम में अब तक हुई 3 हत्याएं, प्रेमी ने की मदद

 
शादीशुदा महिला से प्रेम में अब तक हुई 3 हत्याएं, प्रेमी ने की मदद
सुल्तानपुर।  नगर के दीवानी गेट के पास हुई चांद बाबू की हत्या शादीशुदा महिला से अवैध संबंध में की गई। महिला को हमवार करके पहले उसके सिपाही पति की प्रेमी ने हत्या कर दी। सिपाही की हत्या ने इतना तूल पकड़ा कि उसके भाई ने साथियों के साथ मिलकर पहले प्रेमी के पिता और फिर प्रेमी की गोली मारकर हत्या कर दी। करीब ढाई साल में एक के बाद एक तीन हत्याओं ने रंजिश को और बढ़ा दिया है। पुलिस अब इस सिलसिले को रोकने के लिए योजना बना रही है।
नगर कोतवाली क्षेत्र के घरहा खुर्द निवासी चांदबाबू पुत्र इबरार अहमद का गोसाईगंज थाना क्षेत्र के सिरवारा गांव निवासी सिपाही फयूम की पत्नी परवीन से फोन पर शुरू हुआ प्यार परवान चढ़ा तो दोनों हमेशा एक-दूसरे के साथ रहने के सपने देखने लगे। परवीन शादीशुदा थी और उसको एक बेटा भी था। परवीन का पति यूपी पुलिस में सिपाही था। ऐसे में पति के रहते उनका यह सपना पूरा होता नहीं दिख रहा था। इसलिए सिपाही फयूम को ही रास्ते से हटाने की योजना तैयार की गई। करीब ढाई साल पहले 2017 में सिपाही की हत्या कर उसके शव को मुसाफिरखाना के पास कदूनाला के फेंक दिया गया था।
शुरुआत में फयूम की मौत को दुर्घटना का रूप दिया गया, लेकिन जब मुसाफिरखाना कोतवाली पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम कराया तो गला घोंटकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई थी। जांच में पाया गया कि चांद बाबू ने प्रेमिका परवीन के साथ मिलकर सिपाही की हत्या की थी।
पुलिस ने चांद बाबू के साथ ही परवीन, उसके बेटे को गिरफ्तार कर जेल भेजा था। जेल में निरुद्ध बेटे चांद बाबू को बचाने के लिए नगर पालिका में कर्मचारी इबरार पैरवी कर रहे थे। 13 सितंबर 2017 को इसी रंजिश में इबरार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।
इस मामले में मृत सिपाही के भाई शमीम व कुछ शूटरों को गिरफ्तार किया गया था। अब बृहस्पतिवार की रात चांदबाबू की हत्या को भी इसी कड़ी में जोड़कर देखा जा रहा है। पुलिस अब इस योजना पर काम कर रही है कि किसी तरह ठोस कार्रवाई की जाए और हत्या का यह सिलसिला थम जाए।

From around the web