अंधविश्वास में 4 बुजुर्गों की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या

 
अंधविश्वास में 4 बुजुर्गों की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या
झारखंड में गुमला जिले के सिसई थाना क्षेत्र के नगल सिसकारी गांव में अपराधियों ने चार बुजुर्गों की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी। आशंका जताई जा रही है कि डायन और बिसाही के आरोप में बुजुर्गों की जानें ली गई हैं। मरने वालों में दो महिला और दो पुरुष शामिल हैं।
पुलिस सूत्रों ने आज यहां बताया कि करीब 10-12 की संख्या में अपराधियों ने कल देर रात नगल सिसकारी गांव में धावा बोला। इसके बाद अपराधियों ने चांपा उरांव (62) उसकी पत्नी फीरी उरांव (60), सुना उरांव (65) और फगुनी देवी (62) को अपने कब्जे में ले लिया और उन्हें अपने साथ ले गए। इसके बाद अपराधियों ने चारो लोगों की लाठी-डंडे से पीट-पीटकर हत्या कर दी।
बताया जा रहा है कि सभी मृतक ओझा थे और झाड़-फूंक किया करते थे। इसी के आधार पर उन्हें डायन और बिसाही मानकर मौत के घाट उतार दिया गया। हालांकि बताया जा रहा है कि घटना के बाद सुबह ही घटनास्थल के पास बम-पटाखे फोड़े जाने की भी आवाजें सुनी गईं। ऐसे में आपसी रंजिश और साजिशन हत्या का मामला भी लग रहा है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस के वरीय अधिकारी मौके पर पहुंचकर कैंप कर रहे हैं। शवों को पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया गया है।

From around the web