बच्चे चोरी के शक में 5 लोग पकड़े, ग्रामीणों ने पिटाई कर पुलिस को सौंपा

 
बच्चे चोरी के शक में 5 लोग पकड़े, ग्रामीणों ने पिटाई कर पुलिस को सौंपा
ठाकुरद्वारा। बच्चे चोरी के शक में ग्रामीणों ने पांच लोगों को पकड़कर पुलिस को सौंपा है। पांचों लखीमपुर  खीरी निवासी हैं। पुलिस उनसे  पूछताछ के साथ संबंधित थाने से भी  सत्यापन करवा रही है।

कोतवाली के ग्राम रतूपुरा में शरीफ अहमद का सात वर्षीय बेटा अल्फेज  और शमशुद्दीन का सात वर्षीय पुत्र मोहम्मद अरमान गांव के बाहर बाग के  पास खेल रहे थे। इस बीच काली वेशभूषा में जंगल में घूम रहे पांच लोगों ने आम खिलाने का लालच देकर साथ चलने के लिए कहा तो बच्चों ने शोर मचा दिया। उनके शोर मचाने पर एकत्र ग्रामीणों की भीड़ ने पांचों को पकड़कर पिटाई की।

सूचना पर पहुंची पुलिस पांचों लोगों को पकड़कर कोतवाली ले आई। जहां पर कोतवाल केपी सिंह ने बच्चों के साथ ही पांचों लोगों से पूछताछ की तो उन्होंने अपना नाम नंदराम पुत्र मनीराम, सोनू पुत्र  कल्लू,  राजेश  पुत्र रघूनाथ,  कैलाश सिंह पुत्र विष्णू निवासीगण जहानपुर थान पुल बहेज  जिला लखीमपुर खीरी और धर्मेंद्र पुत्र बिहारी लाल निवासी ग्राम इमरतपुर थाना गोला जनपद लखमीपुर खीरी बताया। कोतवाल के अनुसार  लखमीपुर खीरी पुलिस से संपर्क कर व्हाटसएप  पर फोटो एवं नाम पता  भेजकर पांचों लोगों का सत्यापन  कराया है। 

कुंडा और अलियाबाद से भी  गायब हैं  बच्चे 
ठाकुरद्वारा। उत्तराखंड के कुंडा और  अलियाबाद से भी बच्चे गायब हैं।  बच्चे चोरी के शक में पांच लोगों के पकड़ने की सूचना मिलने पर काशीपुर की कुंंडा पुलिस ने भी पहुंचकर पूछताछ की।
दरअसल, बार्डर स्थित काशीपुर के कुंडा थाना क्षेत्र के ग्राम ग्रढीनेगी निवासी धर्मेंद्र का आठ वर्षीय पुत्र आयुष विगत 24 जून से घर से गायब है। बृहस्पतिवार को ठाकुरद्वारा क्षेत्र में बच्चा चोरी के शक में पांच लोगों के पकड़े जाने पर कुंडा पुलिस ने भी कोतवाली पहुंचकर पांचों संदिग्धों से अलग-अलग पूछताछ की। दूसरी तरफ अलियाबाद के बाग से भी बच्चा गायब है। इसको लेकर ग्रामीण  प्रदर्शन भी कर चुके हैं। पुलिस ने परिजनों के शक के आधार  पर एक व्यक्ति को  हिरासत में ले रखा है। 

From around the web