संगठन की ताकत से ही बहुजन समाज मे आत्म-सम्मान का भाव जागृत किया जा सकता है: लक्ष्य

 
संगठन की ताकत से ही बहुजन समाज मे आत्म-सम्मान का भाव जागृत किया जा सकता है: लक्ष्य
बाराबंकी।  लक्ष्य की महिला टीम ने बाराबंकी के गांव घुंघतेर का दौरा किया और बहुजन समाज के लोगो के साथ एक  सामाजिक चर्चा की |   इस दौरे में लक्ष्य कमांडर राज कुमारी कौशल, बबिता सेन व् संघमित्रा गौतम जी ने हिस्सा लिया |

बहुजन समाज के लोगों मे एकता की कमी है और जिस समाज के लोगो में एकता नहीं होती है उस समाज के लोगो का ही शोषण होता है और वे  नारकीय जीवन जीने के लिए विवश होते है |  यही कारण है कि बहुजन समाज का हजारो वर्षो से शोषण व् उत्पीड़न हो रहा है और उसके लोग दरिद्रता वाला जीवन के लिए मजबूर है यह बात लक्ष्य कमांडरों ने अपनी सामाजिक चर्चा के दौरान कही |

उन्होंने  कहा  कि बहुजन समाज के कुछ  लोग अपने महापुरुषों के संघर्ष  के कारण ऊँची   शिक्षा  प्राप्त करके उच्च पदों पर आसीन तो  हो गये लेकिन समाज में   एकता और भाईचारा नहीं बना पाए परिणाम स्वरूप वे लोग समाज में डरे, सहमें और भयभीत से दिखाई देते है और उनको  जातीय भेदभाव और शोषण का शिकार भी होना पड़ता है |

यदि  बहुजन समाज के लोग संगठन की ताकत को पहचान ले और  सगठिंत हो जाएं तो वो अपने जीवन में आने वाली विभिन्न प्रकार की समस्याओं से निजात पा लेंगे और सम्मानीय जीवन जी सकेंगे |

From around the web