मुस्लिम परिवार पर हमला, गुंडों ने लोहे की छड़ें, लाठी, पत्थरों से मारा

 
मुस्लिम परिवार पर हमला, गुंडों ने लोहे की छड़ें, लाठी, पत्थरों से मारा नई दिल्ली। राजस्थान में मुस्लिम समुदाय पर भीड़  द्वारा हमला करने का मामला सामने आया है। भीड़ ने ने केवल पिटाई की गई, बल्कि परिवार की महिलाओं से भी छेड़छाड़ की गई। पत्रिका के हवाले से सिआसत ने लिखा- इस शर्मनाक घटना में, मोहम्मद यासीन और उनके परिवार के सदस्यों को लोहे की छड़ों, लाठियों से बेरहमी से पीटा गया जब तक परिवार के सदस्य  बेहोश नहीं हुए, आधे घंटे तक जारी रहे इस हमले में परिवारों पर पथराव भी किया गया।

जानकारी के अनुसार पांचबत्ती पर एक पुरानी हवेली को कुछ लोगों ने खरीद लिया था। हवेली खरीदने वाले पुराने निर्माण को तोडकऱ नया नर्माण करवाना चाह रहे थे। हवेली के पास पिछले कई सालों से फेंसी जनरल स्टोर चला रहे मोहम्मद यासीन व उसके परिजनों ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया था। इसको लेकर दोनों पक्षों में कहासुनी मारपीट में बदल गई।

लाठियों से हमला और पत्थर फेंकने लगे। जिसमें दोनों पक्षों के लोगों को चोट लगी है। जबकि मारपीट में घायल हुए मोहम्मद यासीन का आरोप है कि सुबह जब उसकी पुत्री शेरबानो दुकान खोलने पहुंची तो उसके साथ अभ्रद व्यवहार होने पर उसने इसकी सूचना अपने भाई मोहम्मद निसार को दी बताई। इसके बाद परिवार के सभी लोग मौके पर पहुंचे तो वहां मौजूद बलबीर, समद, इस्लाम, निवास, कैलाश व रामनिवास ने लाठियों से हमला बोल दिया। जिसमें परिवार के कई सदस्यों के हाथ-पैर टूट गए और कइयों के सिर में गंभीर चोट लगी है।

घटना के बाद अस्पताल के बाहर भी कई युवक लाठियां व राड़ लेकर पहुंच गए थे। लेकिन पुलिस जाप्ता देखकर भाग गए। घटना में एक परिवार के दुकानदार हाजी मोहम्मद यासीन व उसका पुत्र मोहम्मद रजाक, मोहम्मद निसार, मोहम्मद असलम, मोहम्मद युसूफ, मोहम्म्द आसिफ, पुत्री शेर बानो व तेज बानो को एसके में भर्ती कराया गया है। वहीं दूसरे पक्ष के बीरबल सैनी, निवास सैनी को चोट लगी है।

मारपीट में घायल मोहम्मद यासीन का कहना है कि एक अप्रेल को आरोपी उसे दुकान खाली करने की धमकी देकर गए थे। इसके बाद कोर्ट के जरिए इस्तगासे से उसने आरोपियों के खिलाफ उदयपुरवाटी में मामला दर्ज करा दिया था। इसके बाद पुलिस ने बताया कि आरोपियों को पाबंद कर दिया गया है। लेकिन, बावजूद इसके इन लोगों ने दुकान पर आकर उसके परिवार के साथ मारपीट की और पुलिस उनका कुछ नहीं कर पाई।

From around the web