भैंस चोर के बाद अब 'बिजली चोर' बने आजम खान

 
भैंस चोर के बाद अब 'बिजली चोर' बने आजम खान
रवि सैनी, रामपुर। सपा नेता आजम खान पर एक बार फिर मुसीबतों के बादल मंडरा रहे हैं यह कहना बिल्कुल गलत नहीं होगा कि आजम खान पर न केवल बादल मंडरा रहे हैं बल्कि बरस रहे हैं।

आजम खान के खिलाफ एक के बाद एक हो रहे मुकदमों के बाद अब आजम खान का नाम बिजली चोरी में भी आ गया है आज प्रशासन को आजम खान के हमसफ़र रिजॉर्ट पर बनी पानी की टंकी की शिकायत मिली थी जिसके पास प्रशासन टंकी की जांच करने मौके पर पहुंचा।

जिसमें उप जिलाधिकारी पी पी तिवारी और नगर निगम के अधिकारीगण व विधुत विभाग के अधिकारीगण हमसफर रिसोर्ट पहुंचे। रिसोर्ट के आसपास के लोगों से टंकी से होने वाली सप्लाई की जानकारी ली सप्लाई के संबंध में प्रशासन को मिली शिकायत में यह बताया गया है की टंकी से केवल रिसोर्ट को ही पानी की सप्लाई की जाती है इसके अलावा पानी कहीं और सप्लाई नहीं होता।

आपको बता दें टंकी का निर्माण पूर्णतया सरकारी धन से किया गया है और जनसामान्य की सुविधा के लिए किया गया था जिसका उपयोग सिर्फ और सिर्फ आजम खान के रिसोर्ट के लिए किया जा रहा है।

वही मौके पर पहुंचे अधिकारियों को आजम खान के हमसफर रिसॉर्ट में बिजली चोरी किए जाने के पुख्ता सबूत मिले जिसके बाद प्रशासन ने इस मामले में बिजली विभाग को सूचित किया और मानकों के अनुरूप ना मिलने पर रिसोर्ट में आ रही बिजली  के तार भी काट दिए गए।

इस पूरे मामले में उप जिलाधिकारी पी पी तिवारी ने बताया हमसफर रिसोर्ट में बनी टंकी के संबंध में यह शिकायत हुई थी की रिसोर्ट में बनी पानी की टंकी से अवैध ढंग से पानी का सप्लाई रिसोर्ट में किया जा रहा है जिसकी जांच के लिए जल निगम के अभियंता अधिकारी के साथ हम यहां पहुंचे अब यह देखने वाली बात होगी कि इस पानी की कनेक्टिविटी वैध है या अवैध है इसके बारे में नगरपालिका के द्वारा जांच उपरांत ही कहा जा सकता है इसके अलावा नलकूप विभाग 2 ट्यूबवेल रिसोर्ट में लगे हैं जिनको किसानों की जमीनों की सिंचाई के लिए लगाया गया था इस संबंध में यह देखना था कि किसानों की सिंचाई उससे हो रही है यह केवल रिसॉर्ट के लिए इसका प्रयोग किया जा रहा है प्रथम दृष्टया देखने पर यह मालूम पड़ा की आसपास के लोगों और किसानों द्वारा बताया गया कि उन्हें यहां से पानी नहीं मिलता है अब जांच उपरांत ही इस संबंध में पता चलेगा कि इसका पानी रिसोर्ट को जाता था या किसानों की सिंचाई के लिए मिलता था।

बिजली चोरी के संबंध में बताते हुए उप जिलाधिकारी पी पी तिवारी ने बताया बिजली का कोई प्रॉपर कनेक्शन नहीं है रिसोर्ट के लिए जितना लोड है उतनी कनेक्टिविटी नहीं है इसकी जांच करने बिजली विभाग  के उपखंड अधिकारी मौके पर पहुंचे थे उन्होंने मौके पर अवैध कनेक्शन पाया है बिजली की चोरी होना पाया है इस संबंध में विभाग द्वारा एफ आई आर दर्ज कराई जाएगी फिलहाल रिसोर्ट की बिजली काट दी गई है और इस संबंध में अभियोग पंजीकृत कराया जाएगा।

From around the web