UP में स्तनपान कराने के लिए हर बस स्टैंड पर बनेगा ‘बेबी-फीडिंग क्यूबिकल’

 
UP में स्तनपान कराने के लिए हर बस स्टैंड पर बनेगा ‘बेबी-फीडिंग क्यूबिकल’
लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य रोडवेज परिवहन निगम (UPSRTC) चरणबद्ध तरीके से राज्य के सभी बस स्टैंड पर ‘बेबी-फीडिंग क्यूबिकल’ स्थापित करेगा। ये ऐसी जगह होगी जहां नवजात शिशुआों को उनकी माताओं द्वारा दूध पिलाया जा सकेगा।

यूपीएसआरटीसी के प्रबंध निदेशक राज शेखर ने कहा, ‘यह कदम राज्य के बस स्टेशनों को स्तनपान कराने वाली मां और नवजात शिशु के लिए अनुकूल बनाने की दिशा में है। इस निर्णय को यूपीएसआरटीसी के बोर्ड सदस्य ने मंजूरी दे दी है।

शेखर ने कहा, “स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए एक सुरक्षित वातावरण प्रदान करने की आवश्यकता महसूस हुई ताकि वे अपने बच्चों को स्तनपान करा सकें।” यह कदम यूपीएसआरटीसी द्वारा यात्रियों के लिए सुरक्षा चिंताओं के बाद लागू किए जा रहे बदलावों की कतार में है।

उन्होंने कहा कि यूपीएसआरटीसी ने इस विशेष परियोजना के तहत सभी स्तनपान कराने वाली माताओं और नवजात बच्चों के “सम्मान और सुरक्षा” के लिए 2.5 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं।

उन्होंने कहा कि इन आधुनिक क्यूबिकल्स में दो बच्चे को दूध पिलाने वाले केबिन और एक उपयोगिता केबिन होगा, उन्होंने कहा कि माताओं की गोपनीयता और गरिमा बनाए रखने के लिए आवश्यक व्यवस्था की गई है। राज्य के 242 बस स्टेशनों में से 23 को पहले चरण में पीपीपी (पब्लिक-प्राइवेट पार्टनरशिप) मॉडल के तहत क्यूबिकल बनाए जाएंगे। बाकी 219 बस स्टेशनों के लिए, यूपीएसआरटीसी अगले तीन महीनों में प्राथमिकता के आधार पर बच्चे को दूध पिलाने वाले क्यूबिकल का निर्माण करेगी।

UPSRTC मुख्यालय ने बच्चे को खिलाने वाले क्यूबिकल के लिए ड्राइंग, डिजाइन और विशिष्टताओं को भी अंतिम रूप दिया है। क्षेत्रीय प्रबंधकों को नवंबर तक इसे स्थापित करने के लिए कहा गया है। सूचना के लिए सभी उचित स्थानों पर हिंदी और अंग्रेजी में इनपर एक संदेश लिखा जाएगा। आवश्यक संकेत भी प्रदर्शित किए जाएंगे।

From around the web