भारत के कई क्षेत्रों में निवेश के लिए बड़े अवसर : गोयल

 
भारत के कई क्षेत्रों में निवेश के लिए बड़े अवसर : गोयल
केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मंगलवार को 'भारत दिवस सम्मेलन' को संबोधित किया। इस दौरान गोयल ने भारत में आर्थिक विकास एवं अपने यहां विशाल संख्या में उपलब्ध प्रतिभाओं और वित्तीय सेवा क्षेत्र में ब्रिटेन के साथ सामंजस्य के बारे में विस्तार से बताया।
गोयल ने कहा कि भारत व्यापार और निवेश में बेहतर भविष्य के लिए ब्रिटेन के साथ मिल-जुलकर काम करने को लेकर आशान्वित है। गोयल ने सम्मेलन में अपने संबोधन के दौरान कहा कि इन चर्चाओं से दोनों देशों को एक ऐसा खाका (रोडमैप) पेश करने में मदद मिलेगी, जो भारत-ब्रिटेन संबंध को अगले स्तर पर ले जाएगा।
वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री ने कहा कि अपनी इस यात्रा के दौरान वह प्रतिस्पर्धा में बढ़त के ऐसे अवसर तलाशने के लिए ब्रिटिश सरकार के साथ बातचीत करते रहे हैं, जिन्हें दोनों ही पक्षों ने सामने रखा। उन्होंने कहा कि यह दोनों ही देशों के लिए लाभप्रद स्थिति है। उन्होंने इस साझेदारी को आगे ले जाने के लिए विशेष जोर वाले तीन महत्वपूर्ण क्षेत्रों यथा समावेश, निवेश और नवाचार का प्रस्ताव किया।
गोयल ने विश्वास जताया कि 'भारत दिवस सम्मेलन' इस तरह के आयोजनों में से प्रथम ऐसा आयोजन साबित होगा, जिससे दोनों ही देशों को विभिन्न सेक्टरों में अपनी साझेदारियों को मजबूत करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि ब्रिटेन और भारत दो सुदृढ़ अर्थव्यवस्थाओं के साथ-साथ दो ऐसी अभिनव सोसायटी हैं, जो अपेक्षाकृत ज्यादा साहसिक लक्ष्यों को तय करने की नींव डाल सकते हैं। उन्होंने कहा कि भारत के प्रोफेशनल ब्रिटेन के वित्तीय सेक्टर को और मजबूत करने में उसकी मदद कर सकते हैं।
ब्रिटेन जहां एक ओर भारत में पांचवां सबसे बड़ा विदेशी निवेशक है, वहीं दूसरी ओर भारतीय भी ब्रिटेन में तीसरे सबसे बड़े निवेशक हैं और वे ब्रिटेन में एक लाख से भी अधिक लोगों को रोजगार दे रहे हैं। गोयल ने कहा कि भारत आवास, स्मार्ट सिटी, रेलवे स्टेशन, जल, गैस एवं टेलीकॉम ग्रिड तथा परिवहन नेटवर्कों जैसे कि बंदरगाहों, बेहतर लॉजिस्टिक्स और स्वच्छ ऊर्जा जैसे क्षेत्रों में व्यापक निवेश पर फोकस कर रहा है, जहां बड़ी संख्या में अवसरों के साथ-साथ व्यापार की भी असीम संभावनाएं हैं।
गोयल ने उम्मीद जताई कि ब्रिटेन में प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हुई प्रगति के परिणामस्वरूप नई तकनीकों को भारत के लोगों के लिए किफायती तौर पर सुलभ कराया जा सकता है। उन्होंने कहा कि भारत विश्व का तीसरा सबसे बड़ा दवा (फार्मा) बाजार है। गोयल ने कहा कि भारत में 'आयुष्मान भारत योजना' लागू की जा रही है, जिसके तहत 500 मिलियन लोगों को मुफ्त स्वास्थ्य सेवाएं मुहैया कराई जाएंगी।
भारत की नियामकीय रूपरेखा पर टिप्पणी करते हुए गोयल ने कहा कि ब्रिटेन में स्थापित की गई नियामकीय व्यवस्था अत्यंत जीवंत है, जिससे भारत काफी कुछ सीख सकता है। वाणिज्य मंत्री ने कहा कि जिस गति से भारतीय अर्थव्यवस्था को उदार बनाया जा रहा है, उसको लेकर भारत काफी सजग है, क्योंकि भारतीय समाज के बड़े तबकों की बुनियादी जरूरतों को पूरा करना अब भी बाकी है। इसके अलावा घरेलू आर्थिक नीति और राजनीति को प्रभावित करने वाली विदेशी वस्तुओं और पूंजी को लेकर चिंता जताई जाती रही हैं।
'भारत दिवस' वित्तीय सेवा उद्योग की 300 से भी अधिक हस्तियों का एक सम्मेलन है, जिसकी सह-मेजबानी ब्रिटेन की सरकार और लंदन शहर द्वारा की गई। 'भारत दिवस' का शुभारंभ 16 जुलाई, 2019 को लंदन स्टॉक एक्सचेंज में कारोबार शुरू करने के लिए घंटी बजाए जाने के साथ किया गया। इस सम्मेलन के दौरान ब्रिटेन और भारत के वित्तीय सेवा उद्योग की हस्तियां एकजुट हुईं और इस एक दिवसीय सम्मेलन के दौरान दोनों देशों के बीच सहयोग बढ़ाने के अवसरों पर उच्चस्तरीय वार्ताएं आयोजित की गईं। इस सम्मेलन का एक महत्वपूर्ण उद्देश्य लंदन शहर के संस्थागत निवेशकों को भारत में निवेश के अवसरों से अवगत कराना रहा है।

From around the web