दबंगों ने विक्षिप्त युवक को पीट-पीटकर मार डाला, आरोपी फरार

 
दबंगों ने विक्षिप्त युवक को पीट-पीटकर मार डाला, आरोपी फरार
कानपुर। सजेती थाना क्षेत्र के गांव बदले सिमनापुर में रविवार देर रात दबंगों ने एक विक्षिप्त युवक को लात घूसों व डंडों से पीट-पीटकर मार डाला। आरोपियों की दबंगई के चलते ग्रामीण विक्षिप्त को बचाने की हिम्मत नहीं जुटा सके।
गांव के बद्री प्रसाद निषाद का इकलौता पुत्र अनिल (25) विक्षिप्त और गांजा के नशे का आदी था। अनिल की चार वर्ष पूर्व कानपुर देहात के थाना रसूलाबाद के गांव आलमपुर निवासी बाबूराम निषाद की पुत्री मंजू के साथ शादी हुई थी। लेकिन उसकी हरकतों से खिन्न होकर मंजू शादी के एक वर्ष बाद ही मायके में रहने लगी थी और दहेज उत्पीडऩ का मुकदमा भी दर्ज करा दिया था। अनिल की हरकतों से उसके मां-बाप भी नाराज रहते थे। जिसके चलते वह भी गांव छोड़ कर चले गए। अनिल गांव में गालीगलौज करने के साथ ही घरों में ईंट पत्थर फेंकता रहता था। वह अपने घर के पिलर व दीवारें गिरा सरिया कबाड़ में बेच कर नशे की लत पूरी करता था।
ग्रामीणों के मुताबिक,विक्षिप्त अनिल गाली गलौज कर रहा था। तभी घर के बगल में रहने वाले परशुराम उर्फ परसोले ने परिवार के आधा दर्जन से अधिक लोगों के साथ लाठी डंडे लेकर अनिल को खदेड़ लिया। अनिल खेतों की ओर भाग निकला, लेकिन कुछ दूर पर ही उसे दबोच कर आरोपी उसे घसीटते हुए अपने दरवाजे तक लाए और करीब दो घंटे तक डंडे व लात घूसों से पीटते रहे। मरणासन्न होने पर आरोपी उसे पास ही लगे चंद्रशेखर की पुत्री बाबू की शादी के पंडाल के समीप फेंक कर भाग गए।
अस्पताल पहुंच जाता तो बच जाती जान
युवक के मरणासन्न होने की सूचना ग्राम प्रधान पुरुषोत्तम के पुत्र चुन्ना ने मोबाइल से 100 नंबर डायल कर पुलिस को दी। सूचना पाकर पहुंची पीआरवी के सिपाही अनिल को तत्काल सीएचसी लाने के बजाय फोन कर एंबुलेंस बुलाने लगे। चंद्शेखर की पुत्री की शादी में भाग लेने आए राजेलाल ने बताया कि एंबुलेंस के पहुंचने से 15 मिनट पहले ही अनिल ने दम तोड़ दिया था।
पुलिस ने किया खेल,गैर इरादतन हत्या का दर्ज किया मुकदमा
घसीट कर लाने के बाद दो घंटे तक पानी डालकर डंडों से पिटाई में पुलिस आरोपियों की ही मदद में खड़ी नजर आई। पिता बद्री प्रसाद की तहरीर पर पुलिस ने परशुराम उर्फ परसोले,उसके भाई दिनेश,भाई बब्बू की पत्नी शांती देवी व भतीजे व उसके पुत्र अखिलेश के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। सीओ शैलेंद्र सिंह ने बताया कि फरार हुए आरोपियों की तलाश की जा रही है। अगर किसी बिंदु पर पुलिस की लापरवाही प्रकाश में आाती है, तो कार्रवाई की संस्तुति करेंगे।

From around the web