इंदिरा गांधी की शहादत दिवस को 'किसान दिवस' के रूप में मनाएगी कांग्रेस 

 

कांग्रेस ने आर्थिक नीति, किसानों और महिलाओं की सुरक्षा जैसे मुद्दों पर आने वाले हफ्तों में मोदी सरकार को घेरने की रणनीति बनाई है। पार्टी ने अपनी राज्य इकाइयों को देश भर में हर राज्य में रैलियां आयोजित करने के लिए कहा है। कांग्रेस ने कहा कि भाजपा की अगुवाई वाली केंद्र सरकार और राज्य सरकारों की किसान-विरोधी, महिला-विरोधी, मजदूर-विरोधी और गरीब-विरोधी नीतियों और कार्यों पर पार्टी की भविष्य की रणनीति तय की गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, रविवार को पार्टी द्वारा जारी एक आंतरिक परिपत्र में, के.सी. वेणुगोपाल ने कहा, "31 अक्टूबर को सरदार पटेल की जयंती और इंदिरा गांधी के शहादत दिवस को 'किसान दिवस' के रूप में मनाने का निर्णय लिया गया है।" किसान विरोधी और मजदूर विरोधी कानूनों के खिलाफ, पार्टी 31 अक्टूबर को सुबह 31 बजे से शाम 4 बजे के बीच हर जिला मुख्यालय पर सत्याग्रह और उपवास करेगी।

5 नवंबर को पार्टी महिला और दलित उत्पीड़न दिवस मनाएगी। इस दिन, हाथरस पीड़िता और उसके परिवार पर अत्याचार सहित देश भर में दलितों पर लगातार हो रहे अत्याचारों को उजागर करते हुए, राज्य स्तर पर हर सुबह 10 बजे से 2 बजे के बीच राज्य स्तर पर धरना आयोजित किया जाएगा।

From around the web