BJP को हराने और केंद्र में वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष सरकार बनाने के लिए वोट देने की माकपा ने की अपील

 
BJP को हराने और केंद्र में वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष सरकार बनाने के लिए वोट देने की माकपा ने की अपीलनई दिल्ली। मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी ने छत्तीसगढ़ की आम जनता से पिछले 15 सालों के राज्य में रमन सरकार और 5 सालों से केंद्र में जारी भाजपाई शासन के जनविरोधी-जनतंत्रविरोधी रिकॉर्ड को ध्यान में रखते हुए  भाजपा की पराजय सुनिश्चित करने और केंद्र में एक वैकल्पिक धर्मनिरपेक्ष सरकार के गठन के लिए अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने की अपील की है, ताकि संविधान और संसदीय जनतंत्र की रक्षा करते हुए देश के मेहनतकशों की रोजी-रोटी की लड़ाई को निर्बाध तरीके से आगे बढाया जा सके.

माकपा ने राज्य की जनता के लिए आज अपनी चुनावी अपील जारी की. इसमें पिछले चुनावों के दौरान भाजपा और मोदी द्वारा आम जनता से किये गए वादों के साथ धोखाधड़ी करने और दरबारी पूंजीवाद को बढ़ावा देने के लिए कॉर्पोरेटपरस्त नीतियों को अपनाने का आरोप लगाया गया है. पार्टी ने कहा है कि इन नीतियों के चलते देश मे आर्थिक असमानता बढ़ी है और आम जनता अपने जिंदा रहने की लड़ाई लड़ रही है. मोदी सरकार के पांच वर्षों के जनविरोधी रिकॉर्ड को रेखांकित करते हुए पार्टी ने कहा है कि आज छत्तीसगढ़ के सभी सार्वजनिक उद्योग और किसानों की जमीन निजीकरण-विनिवेशीकरण और लूट के निशाने पर है. प्राकृतिक संसाधनों को लूटने की नीतियों के कारण इस राज्य में जो भारी भ्रष्टाचार सरकारी संरक्षण में हुआ है, उसकी परतें अब खुल रही हैं और पूर्व-मुख्यमंत्री का दामाद तक फरार है.

अपनी चुनावी अपील में माकपा ने आरोप लगाया है कि भाजपा सरकार देश के संविधान को बदलकर उसे 'हिन्दू-राष्ट्र' घोषित करने पर आमादा है, जहां हिन्दू वर्ण-व्यवस्था में शामिल निचली जातियों और गैर-हिंदुओं के साथ दोयम दर्जे का ही व्यवहार किया जाएगा. पार्टी ने कहा है कि अपनी विफलताओं और करतूतों की ओर से जनता का ध्यान भटकाने के लिए भाजपा सांप्रदायिक और छद्म-राष्ट्रवाद के मुद्दे उछाल रही है और राष्ट्रीय सुरक्षा व सेना के नाम पर वोटबटोरू घटिया राजनीति कर रही है. 

From around the web