डंपर ने छात्रा को कुचला, मौके पर मौत

 
डंपर ने छात्रा को कुचला, मौके पर मौत
देहरादून। बड़ोवाला में शिमला बाईपास हाईवे पर तेज गति से दौड़ रहे बजरी से भरे डंपर ने ग्यारहवीं कक्षा की छात्रा को कुचल दिया। छात्रा की दर्दनाक मौत से गुस्साए क्षेत्रवासियों का गुस्सा फूट पड़ा और शव सड़क पर रखकर साढ़े चार घंटे जाम लगा दिया। गुस्साए क्षेत्रवासियों ने पुलिस सुरक्षा में मौजूद चालक को दारोगा की कार से बाहर निकलकर जमकर पीट दिया। 

विरोध करने पर लोगों ने दारोगा से भी हाथापाई की। गुस्साई भीड़ ने ट्रक पर पथराव कर शीशे तोड़ डाले। एसएसपी और डीएम के आश्वासन के बाद भी जाम न खुलने पर पुलिस ने लाठियां फटकारकर भीड़ को खदेड़ा। घटना गुरुवार सुबह 7: 20 की है। पटेलनगर थाना क्षेत्रांतर्गत गणेशपुर निवासी ताजबर सिंह बिष्ट दिल्ली में एक निजी कंपनी में काम करते हैं, जबकि उनका परिवार गणेशपुर में रहता है। ताजबर सिंह की पुत्री मानसी बिष्ट (15) घर के समीप स्थित न्यू ऐरा एकेडमी स्कूल में कक्षा ग्याहवीं की छात्रा थी। 

रोजाना की तरह गुरुवार की सुबह वह घर से पैदल निकली थी। तभी पड़ोसी के आने पर छात्रा ने लिफ्ट ले ली। छात्रा स्कूल के सामने शिमला बाईपास हाईवे रोड पुल के समीप बायीं ओर उतर गई, जबकि पीछे से तेज गति से ही बजरी से भरे डंपर ने मानसी को चपेट में लेकर कुचल दिया। मानसी की मौके पर ही दर्दनाक मौत हो गई। इस सूचना पर मानसी के परिजन और क्षेत्रवासी सैकड़ों की संख्या में मौके पर पहुंचे और वहां से गुजर रहे अन्य ट्रक पर पथराव कर चालक को पीट दिया।  

लोगों ने उक्त चालक की गलती नहीं होने पर उसे छुड़ा दिया, जबकि कुछ लोगों ने घटना कर भाग रहे चालक को ट्रक समेत पकड़ लिया। लोगों ने चालक की जमकर धुनाई कर दी। इस पर निजी कार से पहुंचे दरोगा ने चालक को लोगों की पकड़ से छुड़ा लिया और कार में बैठाकर जाने लगे। इससे गुस्साए लोगों ने बाइक से पीछा कर कार को कुछ ही दूर पर रुकवाकर चालक को खींच लिया। लोगों ने कार से उतारकर चालक को बुरी तरह पीट दिया, जबकि विरोध करने पर लोगों ने दारोगा के साथ गाली गलौज कर हाथापाई कर धक्का दे दिया। वहीं, घटनास्थल पर परिजनों और लोगों ने मानसी के शव को सड़क पर रखकर जाम लगा दिया। 

दरोगा की सूचना पर एसपी देहात प्रमेंद्र डोबाल, सीओ शेखर जुयाल समेत पुलिस फोर्स मौके पर पहुंचा। पुलिस ने उन्हें समझाया, लेकिन डीएम को बुलाने की मांग पर लोग अड़े रहे। घटना के करीब साढ़े चार घंटे पहुंचे डीएम सी रविशंकर और एसएसपी निवेदिता कुकरेती से वार्ता के बाद भी लोगों ने जाम नहीं खुला। पुलिस ने लाठियां फटकारकर तीन किलोमीटर तक लगे जाम को खुलवाया। एसएसपी निवेदिता कुकरेती ने बताया कि डंपर नो एंट्री के समय में कहां से आया, इसकी जांच कर सख्त कार्रवाई होगी।

From around the web