बिजली हुई महंगी, जानिए आपको कितना देना होगा बिल?

 
बिजली हुई महंगी, जानिए आपको कितना देना होगा बिल?
लखनऊ (इफ्तखार)। राज्य विद्युत नियामक आयोग ने सत्र 2,019-20 का टेरिफ ऑर्डर जारी कर नई बिजली दरों का ऐलान किया है। इसमें बिजली दरों में 12 फ़ीसदी तक इजाफा हो जाएगा। नई दरों को आगामी 12 सितंबर से लागू किया जाएगा। इसके साथ ही ग्रामीण क्षेत्र मेें बिना मीटर के घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 25% की बढ़ोतरी की गई है। बिजली दरों में महंगाई के साथ रेगुलेटर चार्ज 4.28 प्रतिशत को समाप्त कर उपभोक्ताओं को थोड़ी राहत भी दी है।
नई दरों के लागू होने के बाद ग्रामीण अनमीटर्ड उपभोक्ताओं को 100 रुपये ज्यादा भुगतान करना होगा। गांवों में घरेलू अनमीटर्ड उपभोक्ताओं को अब 400 रुपये के बजाय 500 रुपये प्रति किलोवाट प्रतिमाह के हिसाब से बिल भुगतान करना पड़ेगा। अनमीटर्ड दरों में  25 फ़ीसदी की बढ़ोतरी के पीछे  आयोग का तर्क है कि  मीटरिंग व्यवस्था को  प्रोत्साहित करने के लिए  यह निर्णय लिया गया है।

आयोग के अनुसार मीटरिंग को प्रोत्साहित करने के लिए अनमीटर्ड की दरें ज्यादा बढ़ाई गई हैं।
ग्रामीण क्षेत्रों के मीटर्ड उपभोक्ताओं का फिक्स चार्ज 80 से बढ़ाकर 90 रुपये प्रति किलोवाट प्रतिमाह तथा बिजली दर 3 रुपये प्रति यूनिट से बढ़ाकर 3.35 रुपये प्रति यूनिट किया गया है। 100 यूनिट तक 3.35 की दर रहेगी। 100 यूनिट से ऊपर अलग-अलग स्लैब के लिए 3.85 से 6.00 रुपये प्रति यूनिट की दर तय की गई है।
इसके साथ ही मीटर्ड निजी नलकूप उपभोक्ताओं का फिक्स चार्ज 60 से बढ़ाकर 70 रुपये प्रति प्रति हार्सपावर प्रतिमाह तथा विद्युत मूल्य 1.75 रुपये प्रति यूनिट से बढ़ाकर 2.00 रुपये प्रति यूनिट तय किया गया है।
शहरी क्षेत्रों के उपभोक्ताओं का फिक्स चार्ज 100 से बढ़ाकर 110 रुपये प्रति किलोवाट प्रतिमाह कर दिया गया है। न्यूनतम बिजली दर 4.90 रुपये प्रति यूनिट से बढ़ाकर 5.50 रुपये कर दिया गया है।

कितनी वृद्धि (रुपया प्रति यूनिट)

उपभोग यूनिट--  पहले        अब
100 से 150     4.90        5.50
151 से 300     5.40       6.00
301से  500     6.20      6.50
500 से ऊपर     6.50     7.00

From around the web