महिला सफाई कर्मी ने जेवर गिरवी रख बेटी को पढ़ाया, मिली एक करोड़ की स्कॉलरशिप

 
महिला सफाई कर्मी ने जेवर गिरवी रख बेटी को पढ़ाया, मिली एक करोड़ की स्कॉलरशिप
इंदौर। एक महिला सफाईकर्मियों नूतन घावरी की बेटी रोहिणी को प्रदेश सरकार के अनुसूचित जनजाति विभाग ने एक करोड़ रुपए की स्कॉलरशिप दी है। मार्केटिंग में एमबीए कर चुकी रोहिणी अब पीएचडी के लिए स्कॉटलैंड जाएंगी।

रोहिणी की मां नूतन कर्मचारी राज्य बीमा निगम अस्पताल में सफाईकर्मी हैं। बड़ी बात यह है कि उसकी पढ़ाई के मां ने अपना सोना गिरवी रख दिया था।

रोहिणी की मां नूतन बताती हैं कि जब हम समाज के किसी कार्यक्रम में जाते थे तो ताने मिलते थे कि लडक़ी कितनी बड़ी हो गई है, शादी कब करोगे। ज्यादा देर करोगी तो अच्छा घर नहीं मिलेगा। मैं दस साल तक रोहिणी को अपने साथ ही ड्यूटी पर ले जाती थी, लेकिन उसका मन तो पढ़ाई-लिखाई में ही लगता था।

उसने आगे पढऩे की इच्छा जताई तो हम भी मना नहीं कर पाए। अपना सोना गिरवी रखकर उसे पढ़ाया जो आज भी गिरवी रखा हुआ है। अब जब स्कॉलरशिप मिली तो लोग ही अपने बच्चों को कहने लगे कि दिल लगाकर पढ़ो-लिखो। रोहिणी की तरह विदेश जाने का मौका मिलेगा।

From around the web