भारत की बढ़ती ताकत को स्वीकार नहीं करना चाहते महामिलावटी लोग : PM मोदी

 
भारत की बढ़ती ताकत को स्वीकार नहीं करना चाहते महामिलावटी लोग : PM मोदी
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रविवार को सपा और बसपा पर आरोप लगाया कि ये 'महामिलावटी' पार्टियां अंतरराष्ट्रीय जगत में भारत की बढ़ती हुई ताकत को स्वीकार नहीं करना चाहतीं हैं। मोदी ने यहां एक चुनावी रैली में कहा, ‘‘मैं इन महामिलावटी लोगों के बारे में क्या कहूं। ये लोग तो अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भारत की बढ़ती ताकत को स्वीकार ही नहीं करना चाहते।’’

उन्होंने कहा कि विपक्षी पार्टियां सर्जिकल स्ट्राइक को लोकसभा चुनाव से जोड़कर देख रही हैं लेकिन हर चीज को चुनाव के चश्मे से नहीं देखा जाना चाहिये। विपक्षी दलों पर अपने-अपने कार्यकाल में भ्रष्टाचार करने का आरोप लगाते हुए मोदी ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री और देश के प्रधानमंत्री के तौर पर उनके कार्यकाल में उन पर एक भी दाग नहीं लगा है।

उन्होंने कहा कि इस देश पर वंशवादी लोगों यानी 'नामपंथियों' के साथ-साथ वामपंथियों और धनबल तथा बाहुबल इस्तेमाल करने वाले दमनपंथियों ने राज किया लेकिन इस वक्त एक 'विकासपंथी' का शासन है जो मुल्क की 130 करोड़ की आबादी का ख्याल रखता है।

प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने हमेशा सिर्फ अपने नेताओं और उनके करीबियों के हितों का ही ख्याल किया है। मोदी ने इस मौके पर तीन तलाक के चंगुल में फंसी महिलाओं को इंसाफ दिलाने के लिये लाये गये विधेयक का भी जिक्र किया। गौरतलब है कि भदोही में खासी तादाद में मुस्लिम मतदाता हैं। यहां 12 मई को छठे चरण के तहत मतदान होगा।

From around the web