कार्यकर्ताओं को एकजुटता का पाठ पढ़ा गये हरीश रावत

 
कार्यकर्ताओं को एकजुटता का पाठ पढ़ा गये हरीश रावत
जसपुर। पूर्व मुख्यमंत्री एवं लोकसभा प्रत्याशी रहे हरीश रावत ने कार्यकर्ताओं से रूबरू होकर हार के कारणों को जाना। तथा उन्हे आगे बढ़ने के टिप्स दिए। उन्होंने साफ कहा कि हार को पीछे रखकर आगे की चुनौतियों के कांग्रेसी तैयार रहे। उन्होंने एकजुटता का पाठ पढ़ाते हुए प्रत्येक कार्यकर्ता को पांच पांच नये सदस्य बनाने का लक्ष्य दिया। 
रविवार को नादेही गेस्ट हाऊस में पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री एवं लोकसभा प्रत्याशी रहे हरीश रावत को कांग्रेसियों ने स्वागत किया। रावत ने कार्यकर्ताओं से चुनाव एवं संगठन को लेकर चर्चा की। डा.यूनूस चैधरी, डा. एमपी सिंह, हाजी हमीद, रवि डोगरा,रूबी,नईम प्रधान,जाकिर हुसैन,जमील अहमद ने कहा कि सीनियरों की इज्जत नहीं होती है। संगठन में गुटबाजी हावी है। सिस्टम में खांमियों के कारण चुनाव में कांग्रेस की उपलब्धियॉ लोगों तक नहीं पहुंची। कहा कि नाराज लोगों से मुलाकात न करना भी चुनाव में भारी पड़ा है।  ईवीएम में गड़बड़ी की बात भी कही गई। डा.एमपी सिंह ने राष्ट्रीय स्तर पर ईवीएम के खिलाफ मुहिम चलाने को कहा।डा.यूनूस चैधरी ने कहा कि प्रत्येक कांग्रेसी अपने बूथ की जिम्मेदारी निभाये तो कांग्रेस कभी नहीं हारेगी। हरीश रावत ने कार्यकर्ताओं का चुनाव में मेहनत करने पर आभार जताते हुए कहा कि वरिष्ठ कांग्रेसजनों को इज्जत दी जाये। कहा कि अब हार को पीछे रखकर पंचायत चुनाव के लिएा रणनीति बनाये। एकजुट होकर काम करें। तथा सरकार की गलत नीतियों का विरोध कर प्रदर्शन करें। उन्होंने पंचायत चुनाव एकजुअ होकर लड़ाने की सलाह दी। विधायक आदेश चैहान ने भी सभी से संगठन की मजबूती पर बल दिया। हरीश रावत ने पत्रकारों से कहा कि कांग्रेस हमेशा जनहित के मुददों को लेकर चली है। केंद्र में भी जनता के सवालों को लेकर केंद्र में ५२ सांसद भारी पड़ेंगे।उन्होंने राष्ट्रीय अध्यक्ष के लिए अपना नाम सोशल मीडिया में वायरल होने के सवाल पर कहा कि राहुल गांधी ही कांग्रेस के अध्यक्ष रहेंगे। उन्होंने संगठन में अन्र्तकलह होने की बात से इंकार किया है। उन्होंने राज्य सरकार द्वारा आनन फानन में पास किए गए पंचायत एक्ट पर कहा कि राज्य सरकार एक्सीडेंट मोड पर है। उन्होंने एक्सीडेंटल कानून बनाया है। इसके बाद रावत कांग्रेसी नेता अतीकुर्ररहमान एवं दर्शनदयाल के निवास पर भी गए। मौके पर गजेंद्र सिंह,पूर्व पालिकाध्यक्ष मो. उमर,सुखदेव सिंह, सुखवीर सिंह, अदित्य गहलोत, सर्वेश सिंह, मुकेश पधान, सनी पधान, राजीव शर्मा,हद्वयेश कुमार,माधव आदि मौजूद रहे।

From around the web