गाली सुन सुनकर गालीप्रुफ हो चुका हूं: PM मोदी

 
गाली सुन सुनकर गालीप्रुफ हो चुका हूं: PM मोदीमुरादाबाद (इफ्तखार अर्शी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुरादाबाद की सरजमीं से जहां पाकिस्तान को ललकारा, वहीं कांग्रेस पर जमकर सियासी हमला किया। इस बीच गठबंध को मजबूरी बताकर मायावती और अखिलेश पर खूब तंज किया।

महानगर के बुद्धि विहार में आयोजित विजय संकल्प रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंच से पाकिस्तान पर तीखा हमला किया। व्यंगात्मक लहजे में कांग्रेस को कमजोर सरकार करार दिया। उन्होंने कहा कि पहले पाकिस्तान से आतंकी आते थे और हिंदुस्तान में धमाका कर चले जाते थे। कांग्रेस सरकार दुनियाभर में रोती थी, हमको मारा, हमको मारा। आज भाजपा के नेतृत्व में नए भारत का उदय हुआ है।

अब आतंक के सरपरस्तों को उसी अंदाज में जवाब दिया जाता है। पाकिस्तान ने जब उरी में गलती की तो देश के वीर जवानों ने सर्जिकल स्ट्राइक कर दुश्मनों को दिन में भी तारे दिखा दिए। दूसरी बार पुलवामा में गलती की तो हमारे वीर जवानों ने एयरस्ट्राइक कर घर में घुसकर मारा। अब उनको अच्छे से समझ में आ गया है कि तीसरी गलती की तो लेने के देने पड़ जाएंगे। उन्होंने कहा कि आज चैकीदार आपके बीच खड़ा है। पाकिस्तान की पूरी सरकार दुनिया भर में रोती रहती है।

उन्होंने जनसभा में मौजूद लोगों से सवाल पूछे बताओ, क्या भारत का दम दिख रहा है या नहीं दिख रहा है? आपको दुबकने वाली सरकार चाहिए या दमदार हिंदुस्तान चाहिए। इस बीच मोदी ने कांग्रेस, समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी खूब तंज किया। आज हाथी साइकल पर सवार है, निशाने पर चैकीदार है। आज बुआ का विशाल हृदय देखिए, बबुआ का इतना सम्मान कर रही हैं। बबुआ वह दिन भी भूल गए, जब बहनजी नेताजी को पागलखाने भिजवाने की सलाह दिया करती थीं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि असल में संकट अस्तित्व का था, इसलिए पहले की सारी गालियां पीछे छूट गईं और नारा बनायारू मेरा भी माफ-तुम्हारा भी माफ वरना हो जाएंगे दोनों साफ, लेकिन जनता इनको माफ नहीं करेगी। हाफ-हाफ वालों को पूरा साफ कर देगी और एक बार फिर बीजेपी को पूर्ण बहुमत देगी। इस बीच प्रधानमंत्री ने विरोधियों की गालियों का भी जिक्र किया। कहा कि गाली सुन सुनकर गालीप्रुफ हो चुका हूं।

इस अवसर पर मुरादाबाद प्रत्याशी कुंवर सर्वेश सिंह, संभल प्रत्याशी परमेश्वर लाल सैनी, रामपुर प्रत्याशी जयप्रदा, मंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह, बलदेव सिंह औलख, शहर विधायक रितेश गुप्ता, बढ़ापुर विधायक सुशांत सिंह आदि  थे।

From around the web