संविधान नहीं होता तो सीएम बाबा मंदिर में बजा रहे होते घंटा: अखिलेश यादव

 
संविधान नहीं होता तो सीएम बाबा मंदिर में बजा रहे होते घंटा: अखिलेश यादव
गोरखपुर।  पूर्व सीएम व सपा अध्‍यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की नींव में झूठ व नफरत के अलावा कुछ नहीं दिखाई देता है। गठबंधन का असर है कि बाबा मुख्यमंत्री अपनी लोकसभा हार गए। हम दोबारा हराने जा रहे हैं।

कैराना से नफरत भाजपा ने फैलाई हमने वहां जीत के बाद दिलों को जोड़ने का काम किया। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अखिलेश ने कहा- हमें कहते हैं कि संविधान नहीं होता तो मैं भैंस चराता। बाबा जब हमें यह कह सकते हैं तो गरीबों के बारे में क्या सोंचते होंगे। बताना चाहूंगा कि संविधान नहीं होता तो बाबा आप किसी मठ में घंटा बजा रहे होते।

From around the web