वायरल फीवर के मरीजों में इजाफा, संक्रामक रोगों से बचने की सलाह दे रहे डाक्टर

 
वायरल फीवर के मरीजों में इजाफा, संक्रामक रोगों से बचने की सलाह दे रहे डाक्टर
जसपुर। उमस एवं गर्मी ने लोगों की सेहत पर संकट खड़ा कर दिया है। वायरल फीवर, डायरिया, पीलिया,टाइफाइड ने तेजी से अपने पैर पसार लिए है। इसके चलते हर घर में इन रोगों के रोगी अपना इलाज करा रहे है। बड़ों के साथ बच्चें भी इन सक्रांमक रोगों की चपेट में हैं। डाक्टर इस मौसम में सक्रांमक रोगों से बचाव के लिए सावधानियां बरतने की सलाह देते है।

गर्मी के कारण इन दिनों वायरल बुखार के तकरीबन तीस प्रतिशत रोगी अस्पताल आ रहे है। वहीं डायरिया के ३०,  मलेरिया के दस, पीलिया के पांच, पेट दर्द के पचास प्रतिशत रोगी प्रतिदिन अपना इलाज करा रहे है। फिजिशियन डा़ एमपी सिंह, डा. संजीव देशवाल ने बताया कि प्रतिदिन यह रोगी अस्पताल पहुंचकर अपना इलाज करा रहे है। चिकित्सक कहते है कि संक्रामक रोगों की चपेट में आने के बाद मरीज को बिना चिकित्सक के परामर्श के कोई दवा नहीं लेनी चाहिए।

तेज धूप से बचे नागरिक
फिजिशियन डा़ एमपी सिंह ने नागरिकों से सूती कपड़े पहनने, धूप से बचने, बासी भोजन न खाने, खुली, सड़ी, गली चीजों से दूर रहने, साफ पानी पीने, ताजे फल एवं जूस पीने की सलाह दी हैं।

From around the web