भारत और हिन्दू अलग-अलग बात नहीं हैं, दोनों को भूलना चिंतनीय: मोहन भागवत

 
भारत और हिन्दू अलग-अलग बात नहीं हैं, दोनों को भूलना चिंतनीय: मोहन भागवत
अलवर।  राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सर संघचालक मोहन भागवत ने कहा है कि भारत और हिन्दू अलग-अलग बात नहीं है लेकिन हम इन दोनों बातों को भूलते जा रहे हैं, जोकि चिंता का विषय हैं। भागवत ने आज एक दिवसीय यात्रा पर अलवर जिले के गहनकर गांव पहुंचकर 123 वर्षीय बाबा कमलनाथ के आश्रम में अपने जन्मदिन पर उनका आशीर्वाद लिया।
उन्होंने इस मौके पर कहा कि हम लोग भारत के हैं और हम हिंदू हैं, जो भारत के हैं इसका मतलब सीधा-सीधा है कि वह हिंदू है।?उन्होंने कहा कि जो अपने आप को हिंदू कहता है वह भारतीय है। इसमें कोई अलग अलग बात नहीं है लेकिन हम इन दोनों बातों को भूलते जा रहे हैं, जो चिंता का विषय है। उन्होंने कहा कि हो सकता है यह बातें किसी को गलत लगे, किसी को सही लगे यह उनके व्यक्तिगत विचार हैं।
उन्होंने बाबा कमल नाथ के बारे में कहा कि इस आश्रम में एक महान आत्मा रहती है और हमें उनका लाभ उठाना चाहिए अगर हमने इनका लाभ नहीं उठाया तो हम चूक गए ऐसे लोग सर्वत्र मिल जाएंगे लेकिन उनकी धरोहर नहीं मिलेगी। इस अवसर पर अलवर सांसद महंत बालक नाथ भी मौजूद थे। इससे पूर्व भागवत के सडक मार्ग से तिजारा के पास गहनकर गांव पहुंचने पर उनका स्वागत किया गया। गौरतलब है कि भागवत का बुधवार को जन्मदिन था जबकि 123 वर्षीय बाबा कमलनाथ का सोमवार को ही जन्मदिन था। भागवत बाबा कमलनाथ का आशीर्वाद लेने गहनकर आए थे।

From around the web