दरोगा की कार ने नाना-नातिन को रौंदा, मौत

 
दरोगा की कार ने नाना-नातिन को रौंदा, मौत
लखनऊ। मलिहाबाद के सरावां-भदौरा मोड़ के पास सोमवार देर रात दरोगा की कार ने नाना-नातिन को रौंद दिया। दोनों को सीएचसी में भर्ती कराया गया, जहां उन्होंने दम तोड़ दिया। इसकी सूचना मिलते ही ग्रामीणों ने सरावां मोड़ पर जाम लगाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरोगा को पकड़ लिया और थाने ले गई। देर रात तक प्रदर्शन जारी रहा। मौके पर आसपास के कई थानों की पुलिस बुला ली गई है।
प्रभारी निरीक्षक सियराम वर्मा के मुताबिक मलिहाबाद के सरावां-भदौरा निवासी रिक्की लाल (75) नातिन मुस्कान (12) के साथ रात दस बजे खाना खाने के बाद सड़क पर टहल रहे थे। इसी बीच प्रयागराज में तैनात उपनिरीक्षक अमित कुमार की कार ने दोनों को टक्कर मार दी। हादसे के बाद अमित घायलों को सीएचसी लेकर गये। जहां कुछ देर बाद दोनों की मौत हो गई।
उपनिरीक्षक पर हमलावर हुए तो कमरे में किया बंद
पुलिस के मुताबिक घटना की जानकारी पर सीएचसी में सैकड़ों ग्रामीण जुट गए। जैसे ही डॉक्टरों ने मौत की पुष्टि की, ग्रामीण अमित पर हमलावर हो गए। पुलिस ने उन्हें पास के कमरे में बंद कर दिया। करीब आधे घंटे बाद ग्रामीण वहां से निकले। इसके बाद उपनिरीक्षक को पुलिस थाने लेकर गयी। अमित ने बताया कि रास्ते में अचानक गाय सामने आ गई। उससे बचने को उन्होंने कार मोड़ी और हादसा हो गया।
मुकदमे की विवेचना में हरदोई गया था दरोगा
पुलिस के मुताबिक दरोगा अमित कुमार मुकदमे की विवेचना के संबंध में सोमवार को हरदोई गए थे। देर रात वहां से वापस प्रयागराज जा रहे थे। इसी दौरान हादसा हो गया। भीड़ को गुस्से में देख दरोगा ने पहले अपना नाम अनुज कुमार बताया। पुलिस के पूछने पर नाम अमित कुमार भारती बताया।
बुलानी पड़ी कई थानों की पुलिस
पुलिस के मुताबिक धौरा मटेरिया निवासी राजकुमार की बेटी मुस्कान चार दिन पहले ही गर्मी की छुट्टी में ननिहाल आई थी। पिता उसे छोड़कर गांव चले गए। वहीं, हादसे की खबर सुनते ही ग्रामीणों ने सरावां मोड़ पर जाम लगाकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। मौके पर मलिहाबाद, काकोरी, ठाकुरगंज, माल सहित कई थानों की पुलिस बुला ली गई थी। क्षेत्राधिकारी मलिहाबाद शेषमणि पाठक और अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण विक्रांत वीर भी पहुंच गए थे।

From around the web