बिजली विभाग की लापरवाही से चली गई जान

 
बिजली विभाग की लापरवाही से चली गई जान
ठाकुरद्वारा। बिजली विभाग की लापरवाही के चलते एक व्यक्ति की जान चली गई। मौत का कारण छत पर टूटकर गिरी बिजली लाइन का करंट बना है।  हादसे के बाद ग्रामीणों में बिजली विभाग के प्रति आक्रोश व्याप्त है।

ग्राम नन्हूवाला में ग्राम कुंडेश्वरा निवासी महेंद्र सिंह बहन के गांव में लगने वाले बूढ़े बाबा के दूज का मेला देखने आए थे। रविवार की शाम अपने बहनोई सतीश सिंह के साथ प्रसाद चढ़ाने के बाद मेला देखकर घर पर सोए थे। सोमवार की सुबह तड़के लघुशंका के लिए उठकर घर से बाहर निकले तो सड़क किनारे बिजली लाइन का तार गिरा पड़ा था। भोर में दिखाई नहीं देने पर महेंद्र सिंह का पैर तार पर रखा गया। करंट लगने पर वह गंभीर रूप से घायल हो गए। हादसे के बाद चीख-पुकार सुनकर सतीश सिंह समेत ग्रामीण महेंद्र सिंह को उठाकर काशीपुर ले गए। जहां निजी अस्पताल में चिकित्सकों ने उनको मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद से ग्रामीणों में विद्युत विभाग के प्रति आक्रोश व्याप्त है।

शरीफ नगर में भी हादसे का इंतजार कर रहा बिजली विभाग
तहसील के ग्राम शरीफ नगर में पिछले करीब महीना भर से विद्युत लाइनों में फाल्ट के चलते तार सड़कों किनारे पड़े हैं। ग्रामीणों का कहना है कि कभी घरों में हाईटेंशन लाइन का का करंट उतर आता है तो कभी सड़कों के किनारे पड़े तार में करंट प्रभावित होने लगता है। ग्रामीण बिजली की समस्या से भी जूझ ही रहे हैं हमेशा हादसे का डर भी बना रहता है। माता के बच्चों को घर से बाहर भेजते हुए डरती है। ग्रामीणों का कहना है कि बिजली अधिकारी समस्या का समाधान करने की बजाय कॉल करने पर रिसीव नहीं करते हैं।
ग्राम प्रधान एम इलयास के अनुसार बिजली अफसरों को दर्जनों बार अवगत कराया जा चुका है, लेकिन बिजली लाइनों को दुरुस्त नहीं किया गया है। उसी में कोई हादसा होता है तो इसके लिए सीधे-सीधे बिजली विभाग जिम्मेदार होगा।

From around the web