संसद का निचला सदन मेरी जिंदगी का हिस्सा बन गया है: सुमित्रा महाजन

 
संसद का निचला सदन मेरी जिंदगी का हिस्सा बन गया है: सुमित्रा महाजन
नई दिल्ली। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने 17वीं लोकसभा के लिए तैयारियों की समीक्षा के वास्ते शुक्रवार को वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान उन्होंने कहा कि संसद का निचला सदन अब उनकी जिंदगी का हिस्सा बन गया है। आठ बार लोकसभा सांसद रह चुकीं महाजन ने पिछले महीने घोषणा की थी कि वह अब निचले सदन का चुनाव नहीं लड़ना चाहतीं। उनके इस फैसले के बाद लोकसभा के अधिकारियों के साथ महाजन की यह पहली बैठक है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए महाजन ने कहा कि 17वीं लोकसभा के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं। उन्होंने बताया कि पहली बार सांसद बनने वाले नेताओं को नियम पुस्तिका और संविधान की प्रति जैसी पुस्तकें दी जाएगी। सांसदों का रेलवे स्टेशनों और हवाईअड्डों पर अलग से स्वागत किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि संसद की इमारत में 24 घंटे का एक सुविधा केंद्र भी बनाया जाएगा। अस्थायी व्यवस्था के तौर पर वेस्टर्न कोर्ट में करीब 100 कमरे उपलब्ध कराए जाएंगे और कोई भी होटलों में नहीं ठहरेगा।

उन्होंने बताया कि राज्य सदनों में 200 कमरे बुक किए जाएंगे जब तक कि राष्ट्रीय राजधानी में नए सांसदों के लिए स्थायी आवासीय व्यवस्था ना हो जाए।

यह पूछे जाने पर कि अब लोकसभा का हिस्सा न रहने पर उन्हें कैसा लगेगा, इस पर महाजन ने कहा कि पिछले तीन दशकों से लोकसभा का सदस्य होने के कारण यह अब उनकी जिंदगी का हिस्सा बन गया है।

From around the web