कपड़े बदलते छात्राओं को देखता था मदरसा टीचर

 
कपड़े बदलते छात्राओं को देखता था मदरसा टीचर
कुशीनगर में मदरसे के शिक्षक ने गुरु-शिष्य की पवित्र परंपरा को शर्मसार कर दिया है। शिक्षक पर आरोप है कि स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कपड़ा बदल रही छात्राओं के कमरे में लगे सीसीटीवी कैमरे के विडियो को वह देख रहा था।

छात्राओं के परिजन की तहरीर पर पुलिस ने मंगलवार को आरोपी शिक्षक और मदरसे की प्रबंधिका के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस अब मामले की जांच कर रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार हाटा कोतवाली क्षेत्र के बरवां छतर दास गांव स्थित मदरसा मुस्तफा दारुल उलूम में बीते 15 अगस्त को सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। मदरसे में पढ़ने वाली छात्राओं ने इन कार्यक्रमों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया था।

सुरजीत सिंह, पवन सिंह, सुबोध गौड़, किशन सिंह आदि द्वारा पुलिस को दी गई तहरीर के मुताबिक, सांस्कृतिक कार्यक्रम में भाग लेने वाली छात्राएं मदरसे के जिस कमरे में कपड़े बदल रही थीं, उस कमरे का सीसीटीवी कैमरा अध्यापक सुलेमान अंसारी ने चालू कर दिया गया।

ग्रामीणों का आरोप है कि अध्यापक सुलेमान अंसारी काफी देर तक कैमरा चालू करके लड़कियों को कपड़ा बदलते देखता रहा। इस बात की जानकारी तब हुई, जब एक बच्चे की नजर सुलेमान के इस कृत्य पर पड़ी। उसने यह बात बच्चियों को बताई। यह बात सुनकर छात्राओं के होश उड़ उड़ गए। आक्रोशित छात्राएं सुलेमान अंसारी के पास पहुंचीं और इस बात का विरोध जताया। 

From around the web