शादीशुदा आदमी के प्यार में अंधी हुई बहन तो इकलौते भाई ने बेरहमी मौत के घाट उतारा

 
शादीशुदा आदमी के प्यार में अंधी हुई बहन तो इकलौते भाई ने बेरहमी मौत के घाट उतारा
वसीम अब्बासी, बहराइच। उसे उम्मीद नही थी कि उसका अंधा प्यार उसकी मौत का कारण बन सकता है। उसने सपने में भी नही सोंचा था कि उसके खून का प्यासा उसका अपना ही कोई होगा। लेकिन हुआ भी बिल्कुल वैसा। एक लड़की को ऐसी मौत मिली जिसको सुनकर रूह कांप जाए। एक बहन का गला काट कर उसके ही इकलौते भाई ने इसलिए मार डाला क्योंकि उसकी मोहब्बत उसे नागंवार थी। 

उसे ये बिल्कुल भी मंजूर नही था कि उसकी बहन एक ऐसे आदमी के प्यार में पागल हो गई थी जो पहले से शादी शुदा था। बहराइच में आनर किलिंग मामले का पुलिस अधीक्षक ने खुलासा कर बीते ढाई माह पूर्व एक निर्माणाधीन घर से मिली सर कटी लाश से पर्दा उठा दिया। पुलिस ने मृतक बहन के भाई के इकबालिया बयान पर उसे जेल भेज दिया।

18 वर्षीय रूबी की जो अपने सगे जीजा के शादी शुदा छोटे भाई के प्यार पड़ कर अपनी जान गंवा बैठी। बीती 18 जून को उसके इकलौते भाई जमशेद ने उसके अवैध संबंधों से आजिज आकर उसका गला काट कर सर धड़ से अलग कर दिया और पहचान छुपाने के लिए सिर व धड़ दो अलग जगहों पर फेंककर उसके सिर को पेट्रोल डालकर जला दिया। दूसरे जनपद की युवती की सर कटी लाश पुलिस ने रुपईडीहा थाना क्षेत्र के बाबागंज इलाके से बरामद किया लेकिन उस बेहद अंधे मामले में युवती की शिनाख्त नही हो सकी। स्थानीय थाने की सक्रियता व सर्विलांश सेल की मदद से आज पुलिस अधीक्षक ने मामले का खुलासा कर मृतका के आरोपी भाई को जेल भेज दिया।

पुलिस अधीक्षक डॉ गौरव ग्रोवर के मुताबिक आरोपी जमशेद मुजफ्फरनगर जिले का निवासी है इसकी तीन बहनों में मृतका रूबी सबसे छोटी बहन थी जिसका उसके बड़े बहनोई के शादी शुदा छोटे भाई से प्रेम में पड़कर अवैध संबंध स्थापित हो गया था जिसको लेकर जमशेद बेहद तनाव में रहता था। चूंकि जमशेद के बड़े बहनोई बहराइच के रुपईडीहा इलाके में फेरी का काम करते थे जिसमें उनका भाई हासिम भी सहयोगी था। जमशेद के काफी प्रयास के बाद जब रूबी और हासिम के बीच सम्बन्ध बन्द नही हुए यहां तक जब हासिम ने रूबी के नाम के अक्षर आर को लिखकर जमशेद को चिढाना शुरू कर दिया तो जमशेद ने अपनी ही बहन को मार डालने का मन बना लिया। 

इसी के तहत वो अपनी बहन को लेकर मुजफ्फरनगर से बहराइच आया और वह भी अपने बहनोई की ही तरह फेरी का काम करने लगा। इसके लिए जमशेद अपनी छोटी बहन रूबी के साथ नानपारा में किराए का कमरा लिया और बतौर किरायेदार रहने लगा लेकिन वहां वो अपने मकसद में कामयाब नही हो सका इसलिए घटना के पहले उसने कमरा बदल दिया और 19 जून 2019 की रात में उसने अपनी बहन की हत्या कर दी फिर पहचान छुपाने के लिए उसका धड़ से अलग सिर दूसरे स्थान पर फेंक कर उसके चेहरे को पेट्रोल डालकर जला दिया जबकि धड़ उसने भारत नेपाल सीमा के निकट बाबागंज  इलाके में एक निर्माणाधीन मकान में फेंक दिया। 

चूंकि युवती की सिर कटी लाश थी व महिला भी गैर जनपद की निवासी थी सो इसका पता लगाना पुलिस के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण था। पुलिस की सक्रियता व सर्विलांश सेल के सहयोग से जिले की रुपईडीहा पुलिस ने मामले के आरोपी व मृतका के भाई जमशेद को पकड़ लिया जिसके बाद इस घटना का खुलासा हो गया। पुलिस ने इस बेहद सनसनीखेज व अंधे मामले के खुलासे के बाद राहत की सांस ली है।

From around the web