माया-अखिलेश के गले की हड्डी बना उम्मीदवार, रेप का आरोप, चल रहा फरार

 
माया-अखिलेश के गले की हड्डी बना उम्मीदवार, रेप का आरोप, चल रहा फरार
राकेश पाण्डेय
वाराणसी। लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण का मतदान अभी बाकी है।घोसी सीट पर भी इसी चरण में चुनाव होना है इस बीच, घोसी से बसपा के महागठबंधन प्रत्याशी मायावती और अखिलेश यादव के लिए गले की हड्डी बन गए हैं. घोसी से गठबंधन ने अतुल राय पर भरोसा जताया था और वही अतुल राय अब फरार चल रहे हैं।

 अतुल राय के ऊपर रेप का आरोप लगा है और पुलिस को उनकी तलाश कर रही है. प्रत्याशी फरार है और घोसी के लोग परेशान की वोट करें तो किसे करें।

फिलहल अपने फरार प्रत्य़ाशी के लिए माया-अखिलेश रैली कर रहे हैं और लोगों से प्रार्थना कर रहे हैं कि उनके ही प्रत्याशी को वोट दें।

मायावती कह रही हैं अतुल राय बेहद शरीफ और शादीशुदा व्यक्ति हैं, ये सब उनकी छवि को खराब करने के लिए किया जा रहा है।  बता दें कि एक पूर्व छात्रा ने अतुल राय के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया है. छात्रा का कहना है कि अतुल राय ने उस घोखा दे कर कई वर्षों तक उसका शारीरक शोषण किया।

चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुएं मायावती ने कहा कि कांग्रेस, बीजेपी और अन्य विरोधी पार्टियों को केंद्र में सत्ता में नहीं आने देना है। सभी विरोधी पार्टी द्वारा सभी हथकंडे अपनाए जा रहे हैं. विरोधी पार्टियों द्वारा जारी घोषणापत्र के प्रलोभन में नहीं आना है. देश की जनता का विश्वास भी टूटता चला जा रहा है. मायावती ने कहा कि इसीलिए हमारी पार्टी घोषणा पत्र जारी नहीं करती है। बीजेपी ने अच्छे दिन दिखाए जाने का प्रलोभन दिया जो आज भी पूरा नहीं हुआ।

From around the web