मानसिक रोगी ने किया तेजाबी हमला पिता, भाई, पुलिस, राहगीरों समेत 13 झुलसे

 
मानसिक रोगी ने किया तेजाबी हमला पिता, भाई, पुलिस, राहगीरों समेत 13 झुलसे
राकेश पाण्डेय
प्रयागराज। शहर के गोविंदपुर इलाके में शुक्रवार की रात मानसिक रोगी युवक ने पिता और भाई को पीटने के बाद तेजाब फेंककर झुलसा दिया। खबर पाकर पुलिस पहुंची तो युवक मकान के दूसरे तल से उन पर तेजाब फेंकने लगा। तेजाब की चपेट में आने से पांच दारोगा आठ पुलिसकर्मी और कुछ राहगीर झुलस गए। दो घंटे की मशक्कत के बाद दरवाजा तोड़कर सिरफिरे को पकड़ा गया।

गोविंदपुर में जीशान मार्केट के पास रहने वाले प्यारे मोहन सिन्हा ईश्वर शरण डिग्री कॉलेज में शिक्षक के पद से रिटायर हैं। उनके चार बेटे हैं। दो बेटे बाहर रहते हैं। जबकि राजीव सिन्हा और सुमित साथ में रहते हैं। सुमित ने घर में ही डेयरी खोल रखी है। घरवालों के मुताबिक राजीव उर्फ राजू (38) की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है। वह अक्सर घरवालों से मारपीट करता है। शुक्रवार रात लगभग आठ बजे पिता प्यारे मोहन ने पुलिस को फोन पर सूचना दी कि राजू घर में मारपीट कर रहा है।

पुलिस मौके पर पहुंची तो राजू घर के अंदर से भीड़ पर ईंट-पत्थर फेंक रहा था। पुलिस ने दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया तो वह परिजनों को पीटने के साथ ही बाहर पुलिसकर्मियों पर ईंट-पत्थर और तेजाब फेंकने लगा। तेजाब के हमले से राजू भाई, पिता और कुछ पुलिसकर्मी झुलस गए। तेजाब हमले से खलबली मच गई। पुलिस वाले दूर हट गए। खबर पाकर कई थानों की पुलिस के साथ एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव आ गए। मौके पर दमकल को बुला लिया गया।

 पुलिस पड़ोसी की छत से पीएम सिन्हा के छत पर पहुंची। ताला तोड़कर अंदर घुसी तो राजू ने पुलिसवालों पर फिर से तेजाब फेंका। तेजाब का छींटा पडऩे से एसओ शिवकुटी उमेश सिंह, एसआइ पंकज भाष्कर, आजाद सिंह, राहुल परमार, मो.अली, सिपाही शिवकुमार मौर्य, थाना प्रभारी दारागंज आशुतोष तिवारी, जार्जटाउन थाने के सिपाही नबी अहमद समेत कई लोग झुलस गए। पुलिस छत पर पहुंची तो राजू दूसरी मंजिल के एक कमरे में जाकर दरवाजा बंद कर लिया।

 पुलिस ने उसके माता-पिता भाई और उसकी बेटी को भी बाहर निकाला। वे भी तेजाब का छींटा पडऩे से झुलसे थे। उन्हें अस्पताल भेजा गया। जिस कमरे में राजू सिन्हा ने खुद को बंद किया था। उसमें तेजाब कई बोतल भी थी। फायर ब्रिगेड की मदद से कमरे में पानी की बौछार डाली गई। लगभग दो घंटे बाद पुलिस ने दरवाजा तोड़कर राजू को दबोच लिया। एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि  राजू को पकड़कर थाने लगाया गया है। उसके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

राजू की इन्हीं हरकतों की वजह से पत्नी सात साल पहले सोहबतियाबाग स्थित अपने मायके चली गई। वह अपने दोनों बच्चों को भी ले गई। आसपास के लोगों ने बताया कि वह कभी-कभी घर आती है। तीन दिन पहले भी आई थी तो राजू ने मारपीट की थी। घरवालों से रुपये के झगड़ा करने के अलावा महिलाओं के कपड़े पहनकर मोहल्ले में घूमता था।

From around the web