ई-रिक्शा चालक के कत्ल और न चौकीदार हत्या का खुलासा, पुलिस के हाथ खाली

 
ई-रिक्शा चालक के कत्ल और न चौकीदार हत्या का खुलासा, पुलिस के हाथ खाली
ठाकुरद्वारा। पुलिस अभी तक ई-रिक्शा चालक के कातिलों को तलाश पाई है और न ही तालाब चौकीदार के हत्या का खुलासा कर हत्यारों को गिरफतार कर पाई है। अभी तक दोनों वारदातों में पुलिस के हाथ खाली हैं।

ग्राम रतूपुरा निवासी ई-रिक्शा चालक रईस अहमद 30 अगस्त की सुबह दस बजे  घर से ई-रिक्शा लेकर रोजी कमाने निकला था। दोपहर बाद उसका रक्तरंजित शव ग्राम फरीद नगर के जंगल में फरीदुद्दीन बाबा की मजार के पास पड़ा मिला था। उसकी गर्दन समेत शरीर के कई हिस्सों पर धारदार हथियार के वार थे। उसका  ई-रिक्शा भी गायब था।

पुलिस ने मृतक के पिता कलबे अली की तहरीर पर अज्ञात बदमाशों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। अभी पुलिस ई-रिक्शा चालक की हत्या का खुलासा भी नहीं कर पाई थी कि कोतवाली के ग्राम रमनावाला के जंगल में अशोक सक्सेना कातिब के मत्स्य पालन के तालाब पर चैकीदार किशोरी सिंह की 16 सितंबर की रात सीने में चाकू घोंपकर हत्या कर  दी गई थी। वह घर से शाम का भोजन कर तालाब पर बनी झोंपड़ी में आकर सोया था। सुबह  परिजनों को चारपाई पर मृत पड़ा मिला था। 

उसके पुत्र देवेंद्र कुमार ने अज्ञात बदमाशों के खिालाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया है। इस घटना को भी चार दिन बीत चुके हैं, लेकिन पुलिस खुलासा नहीं कर पाई है। कोतवाल केपी सिंह के अनुसार दोनों वारदातों के खुलासे का प्रयास किया जा रहा है।

From around the web