नीतू सोलंकी के हत्यारोपी की मौत

 
नीतू सोलंकी के हत्यारोपी की मौत
नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर 11 फरवरी 2011 मिली टैटू गर्ल नीतू सोलंकी मर्डर मिस्ट्री का आखिर अंत हो गया। जिंदा रहते हुए दिल्ली पुलिस आरोपी राजू गहलोत तक नहीं पहुंच पाई, लेकिन मौत के बाद पुलिस को उसका पता चला।

राजू गहलोत ने गुरुग्राम के एक निजी अस्पताल में लिवर की बीमारी के कारण दम तोड़ दिया। मशहूर टैटू गर्ल हत्याकांड के बाद करीब 8 साल तक राजू पुलिस की आंखों में धूल झोंककर गुरुग्राम में नाम बदलकर रहता रहा। इस बीच उसने अपने परिवार से भी कभी संपर्क भी नहीं किया।

मंगलवार को अंतिम सांस लेने से पहले उसने अपनी मां को कॉल कर जब बीमारी की खबर दी तो  पुलिस टीम गुरुग्राम के पारस अस्पताल पहुंची, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

परिजनों ने बुधवार को उसका अंतिम संस्कार कर दिया। हत्याकांड के समय राजू 15 मोबाइल और 15 सिमकार्ड का इस्तेमाल करता था। उस पर 2 लाख का इनाम भी घोषित था।

From around the web