मोदी कितनी भी कोशिश कर लें KCR के रहते BJP नहीं बन पाएगी शक्तिशाली: ओवैसी

 
मोदी कितनी भी कोशिश कर लें KCR के रहते BJP नहीं बन पाएगी शक्तिशाली: ओवैसी
ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष और हैदराबाद सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने जोर देकर कहा कि जब तक केसीआर का शासन है तब तक तेलंगाना में बीजेपी कभी शक्तिशाली नहीं बनेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहे कितनी भी कोशिश कर लें मगर केसीआर जैसे नेता से कभी भी टक्कर नहीं दे पायेंगे। ओवैसी ने शनिवार को मीडिया से यह बात कही।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार उन्होंने आगे कहा कि प्रेम भावना के साथ रहने वाले तेलंगाना के लोग कभी भी सांप्रदायिक तनाव को फैलाने वाले राजनीतिक दल का कभी भी आदर नहीं करेंगे। संघ परिवार की सोच को मुंहतोड़ जवाब देंगे। पिछले पांच साल में तेलंगाना सरकार द्वारा लागू किये गये योजनाओं के अच्छे परिणाम देखने को मिल रहे हैं। इसका लाभ अल्पसंख्यक, बीसी, एससी, एसटी समूदाय के लोग बखूबी उठा रहे हैं। देश में कल्याणकारी योजनाओं को लागू करने में तेलंगाना सरकार नंबर वन है।

एक सवाल के जवाब में ओवैसी ने कहा कि गृहमंत्री अमित शाह पार्टी की सदस्यता अभियान के लिए तेलंगाना के दौरे पर आये है तो यह उनका निजी विषय है। इस बारे में किसी को कोई आपत्ति नहीं हो सकती। मगर तेलंगाना में शक्तिशाली बनने या बनाने के लिए आये है तो उनको जरूर निराशा हाथ लगेगी। अत्यंत शक्तिशाली पार्टी के रूप में नाम अर्जित कर चुके ओडिशा, तमिलनाडु, तेलंगान जैसे राज्यों में बीजेपी कभी भी पांव नहीं पसार पाएगी। इन राज्यों में एक जमाने में शक्तिशाली रही चुकी कांग्रेस पार्टी का आज नामोनिशान मिट गया है।

उन्होंने कहा कि पिछले चुनाव में तेलंगाना में बीजेपी के चार उम्मीदवार जीतने का यह मतलब नहीं होता कि बीजेपी शक्तिशाली बन गई है। तीन स्थानों में अतिविश्वास और एक जगह पर उम्मीदवार ठीक न होने के कारण टीआरएस हार गई है।

ओवैसी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि संपूर्ण बहुतमत के साथ सत्ता में आई बीजेपी में अहंकार स्पष्ट दिखाई दे रहा है। यह देखकर बीजेपी के मासूम लोगों पर हमले कर रही हैं। हाल ही में एक विधायक ने स्वयं मासूम लोगों पर हमला किया। उनके समर्थकों ने फायरिंग की है। यह सब अहंकार की निशानी है। मोदी ने इस घटना की निंदा की तो आगरा में एक सांसद के समर्थकों ने टोल कर्मचारी पर हमला किया है। यह हमले बीजेपी की नीति को स्पष्ट करती हैं। उन्होंने सवाल किया कि 50 लाख खर्च करने वाले नेता क्या टोल के पास 50 रुपये नहीं दे सकते हैं?

ओवैसी ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्र सरकार का बजट काफी निराशा जनक रहा है। बजट ने गरीबों की कमर तोड़कर रख दी है। अब डिजल और पेट्रोल के दाम बढ़ने के कारण इसका असर सामान्य लोगों पर भारी पड़ेगा।

From around the web