बेटी की जिद पर इंस्पेक्टर ने सर्विस पिस्तौल से चलवाई गोलियां, हो गए सस्पेंड!

 
बेटी की जिद पर इंस्पेक्टर ने सर्विस पिस्तौल से चलवाई गोलियां, हो गए सस्पेंड!
नई दिल्ली।  बच्चों की कोई-कोई जिद और उनके अजीबो-गरीब शौक कभी-कभी बड़ों पर भारी पड़ जाते हैं. दिल्ली पुलिस के एक इंस्पेक्टर के साथ भी ऐसा ही हुआ. मन रखने को इंस्पेक्टर पापा ने बेटी से सर्विस पिस्तौल से कई राउंड गोलियां चलवा दी. अब इस मामले में आरोपी इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया गया है. घटना के बारे में नॉर्थ वेस्ट जिले की डीसीपी विजयंता आर्या ने बताया कि यह गंभीर लापरवाही का मामला है.
डीसीपी ने बताया, वीडियो मैंने देखा. कुछ आरोप पहली नजर में सिद्ध हुए हैं जबकि कुछ बिंदुओं की जांच अभी गहराई से की जानी बाकी है. लिहाजा, उच्चस्तरीय जांच के आदेश जारी कर दिए हैं, ताकि पूरा सच और परिस्थितियां सामने आ सकें. डीसीपी ने बताया, ड्यूटी में कोताही मिली तभी मैंने आरोपी इंस्पेक्टर को सस्पेंड किया है. मामले में फंसा लापरवाह अफसर इंस्पेक्टर के पद पर पोस्टिड था इसलिए मैंने घटना की जांच किसी सहायक पुलिस आयुक्त (एसीपी) स्तर के अधिकारी से न कराकर, जांच का जिम्मा एडिशनल डीसीपी स्तर के अधिकारी को दिया गया है.
बता दें कि लापरवाह आरोपी इंस्पेक्टर दिनेश कुमार नॉर्थ वेस्ट जिला पुलिस लाइन में रिजर्व-इंस्पेक्टर (आरआई या पुलिस लाइन प्रभारी) के पद पर करीब तीन साल से तैनात हैं. डीसीपी के मुतबिक, आरोपी इंस्पेक्टर दिल्ली पुलिस में सब-इंस्पेक्टर के पद पर भर्ती हुए थे. वीडियो देखने के बाद मैंने उन्हें तत्काल प्रभाव से सस्पेंड कर दिया है.
वीडियो में बिनावर्दी के इंस्पेक्टर पिता जिला पुलिस लाइन में सरकारी हथियार (9 एमएम बोर की प्रतिबंधित पिस्तौल, जिसे सुरक्षा बल या फिर पुलिसकर्मी ही इस्तेमाल कर सकते हैं) से अपनी बेटी को निशानेबाजी की प्रैक्टिस कराते दिख रहे हैं. दिल्ली पुलिस मुख्यालय के एक आईपीएस अधिकारी ने बताया, वीडियो में सब कुछ साफ है. जिला पुलिस लाइन की शूटिंग रेंज साफ-साफ नजर आ रही है.
डीसीपी ने कहा कि ड्यूटी में लापरवाही, सरकारी हथियार का निजी इस्तेमाल और सरकारी हथियार रखने में लापरवाही बरतने जैसे मुद्दों को ध्यान में रखते हुए इस मामले की जांच की जाएगी. पूरे घटनाक्रम पर सस्पेंड किए जा चुके आरोपी इंस्पेक्टर दिनेश कुमार कुछ भी बोलने से परहेज करते हैं. उन्होंने बताया, जो होना था सो हो गया. क्या कह सकता हूं.

From around the web