महिला लिपिक के उत्पीड़न पर भड़के संचालक

 
महिला लिपिक के उत्पीड़न पर भड़के संचालक
जसपुर। किसान सेवा सहकारी समिति में महिला लिपिक का उत्पीड़न करने पर संचालक भड़क गए। उन्होंने समिति में हंगामा कर विधायक को मौके पर बुला लिया।महिला ने विधायक को आपबीती सुनाकर इंसाफ की गुहार की।विधायक ने एआर से वार्ता कर मामले को तत्काल निपटाने की बात कही।
किसान सेवा सहकारी समिति में तैनात लिपिक सुनीता कश्यप का बीती बीस जून को पतरामपुर केंद्र पर तबादला कर दिया गया। आरोप है कि पतरामपुर न जाने पर अध्यक्ष ने महिला को उत्पीड़न शुरू कर दिया। दिक्कत होने पर महिला ने संचालकों से यह बात बताई।शुक्रवार को समिति के संचालकों ने समिति कार्यालय आकर हंगामा काटा। तथा प्रदर्शन कर अध्यक्ष एवं एमडी को बुलाया। लेकिन कोई नहीं आया। तब संचालकों ने विधायक आदेश चैहान को मामले से अवगत कराकर समिति में बुला लिया। संचालकों ने विधायक को बताया कि महिला का तबादला करने से पहले बोर्ड में प्रस्ताव पास कराया जाता है। लेकिन अध्यक्ष ने महिला का उत्पीड़न करने के उददेश्य से उसका पतरामपुर तबादला कर दिया।संचालकों ने अध्यक्ष पर बोर्ड से पास कराये बिना ही कई कराने कराने का आरोप लगाया। विधायक ने एमडी एवं एआर से वार्ता कर मामले को निपटाने को कहा। प्रदर्शन करन वालो में सुभाष सिंह, दिग्विजय सिंह, अरविंद कुमार, विजेंद्र गहलोत,सुखवंत सिंह,शीला देवी, सनी पधान, बब्ली, दीपक अरोरा, विमल कश्यप, निखिल, प्रदीप कुमार, गुरमीत सिंह,विक्की चन्द्रा,हरीलाल सिंह आदि मौजूद रहे।वहीं,अध्यक्ष देवेंद्र सिंह ने बताया कि महिला की सहमति पर दो माह के लिए तबादला किया गया है।कोई उत्पीड़न नहीं किया गया है। बैठक बुलाकर मामले को निपटाया जायेगा। एमडी संजय मियान ने बताया कि अध्यक्ष के लिखित आदेश पर महिला का तबादला किया गया था। उसने अभी तक ज्वाइन नहीं किया है। 

From around the web