पाकिस्तान ने की रमजान में भारत को रूह अफज़ा भेजने की पेशकश, उड़ा मज़ाक...

 
पाकिस्तान ने की रमजान में भारत को रूह अफज़ा भेजने की पेशकश, उड़ा मज़ाक...
रमजान उल मुबारक के मुक़द्दस महीना शुरू हो चुका है। बाजार में रौनक दिखाई दे रही है, लेकिन इसी बीच अचानक सदियों से इफ्तार के समय पिये जाने वाला शर्बत रूह ऐ अफज़ा बाजार से गायब है,बाजार में रूह ऐ अफज़ा की सप्लाई ना होने के कारण दुकानदार ना होने का कारण बता रहे हैं।

कुछ लोगों का कहना है कि रुह अफ़ज़ा बनाने वाली कंपनी हमदर्द के मालिकों के बीच संपत्ति विवाद की वजह से अनबन हो गई जिसका असर उत्पादन पर पड़ा लेकिन कंपनी ने इन सभी अफ़वाहों को सिरे से खारिज कर दिया और कच्चे माल की कमी को उत्पादन रुकने की वजह बताया।

कंपनी की तरफ़ से जल्द ही देश भर की दुकानों में रूह अफ़ज़ा पहुंचाने का दावा भी किया गया हालांकि रुह-अफ़ज़ा की ऑनलाइन बिक्री जारी है लेकिन वहाँ इसकी कीमत आसमान छू रही है।

इस बीच पाकिस्तान में रूह- अफजा बनाने वाली कंपनी के एमडी ने भी वाघा बॉर्डर के रास्ते भारत में रुह अफ़ज़ा भेजने की पेशकश की।

पाकिस्तान के हमदर्द कंपनी के एमडी उसामा कुरैशी ने अपने ट्वीटर हैंडल में ट्वीट करते हुए लिखा- हम रमजान में भारत को रूह अफजा और रूह अफजा गो मुहैया करा सकते हैं. भारत सरकार इजाजत दे तो हम वाघा बॉर्डर के रास्ते से रूह अफजा और रूह अफजा गो ट्रक भेज सकते हैं.

वहीं एक यूजर ने लिखा – सच कहूं तो मुझे पाकिस्तान का रूह अफ़ज़ा बिलकुल नहीं पसंद. दुबई में पाकिस्तान का रूह अफजा और भारत का बना रूह अफजा दोनों मिलता है. भारतीय रूह अफजा के मुकाबले पाकिस्तान का रूह अफजा कहीं नहीं ठहरता.

हालांकि, कुछ ही देर बाद उसामा कुरैशी के इस ट्वीट पर भारतीय ट्वीटर यूजर्स से प्रतिक्रिया देखने को भी मिली. चौकीदीर घोष ने उसामा कुरैशी के ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा- रूह अफजा के कार्टून्स में आरडीएक्स ना भेजें तो ऐसा हो सकता है लेकिन हमें आप पर भरोसा नहीं।

From around the web