PM मोदी ने बेटियों को भारत की लक्ष्मी बताकर ई-सिगरेट के नुकसान बताए

 
PM मोदी ने बेटियों को भारत की लक्ष्मी बताकर ई-सिगरेट के नुकसान बताएएसपी मित्तल 
29 सितम्बर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रेडियो पर मन की बात की। यूं तो मोदी ने अपने चालीस मिनट के संबोधन में अनेक विषयों पर अपने विचार रखे, लेकिन देश की बेटियों को सम्मान देने के लिए दीपावली के मौके पर बेटियों को भारत की लक्ष्मी बता कर प्रशंसा की।

मोदी ने देशवासियों से आह्वान किया कि बेटियों की कामयाबी के फोटो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए जाएं, ताकि दुनिया भारत की लक्ष्मी के बारे में जान सके। इसमें कोई दो राय नहीं कि मोदी का यह सुझाव सराहनीय है। यदि घर परिवार की बेटियों को सम्मान मिलेगा तो समाज में सुख-समृद्धि अपने आप आ जाएगी। इसके साथ ही मोदी ने ई-सिगरेट के नुकसान के बारे में भी बताया।

कुछ युवा समझते हैं कि तम्बाकू वाली सिगरेट के मुकाबले ई-सिगरेट नुकसान नहीं पहुंचाती है। मोदी ने कहा कि ई-सिगरेट में हानिकारक केमिकल का उपयोग होता है जो तम्बाकू वाली सिगरेट से भी घातक होते हैं। इसलिए सरकार ने ई-सिगरेट पर प्रतिबंध लगाया है। कुछ युवा फैशन के तौर पर ई-सिगरेट का उपयोग करते है जो पूरी तरह गलत है। सिगरेट का सेवन करने वाला पिता कभी नहीं चाहेगा, कि उसका बेट भी सिगरेट का सेवा करें, क्योंकि पिता को पता है कि सिगरेट हानिकारक है।

सिस्टर थ्रेसिया का संत बनना गौरव की बात
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ईसाई मिशनरीज के कार्यों की भी जम कर प्रशंसा की। मोदी ने कहा कि भारतीय नन मरियम थे्रसिया को आगामी 13 अक्टूबर को वेटिकन सिटी में ईसाई समुदाय के सबसे बड़े धर्म गुरु पोप संत की उपाधि देने की घोषणा करेंगे। सिस्टर थ्रेसिया ने अपने पचास वर्ष के जीवन काल में शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किए। भारतीय नन को इतना बड़ा सम्मान मिलना गौरव की बात है। सिस्टर थे्रसिया को श्रद्धांजलि देते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ईसाई समुदाय भी बधाई का पात्र है।

From around the web