PM मोदी का दावा- 1987 में किया था ईमेल, लोगों ने की खिंचाई- 1990 में शुरू हुई थी ईमेल सेवा

 
PM मोदी का दावा- 1987 में किया था ईमेल, लोगों ने की खिंचाई- 1990 में शुरू हुई थी ईमेल सेवा
क्या आपको पता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मात्र एक ऐसे व्यक्ति हैं जिन्होंने ईमेल सेवा के लॉन्च होने से पहले ही इसपर अपना आईडी बना लिया था और उससे पहला मेल भी लाल कृष्ण आडवाणी को भेजा था। ये पढ़ने में आपको अजीब जरूर लगेगा, लेकिन ये बात हम नहीं बल्कि खुद देश के पीएम मोदी कह रहे हैं।

दरअसल, एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि करीब 1987-88 में मैंने पहली बार डिजिटल कैमरे का इस्तेमाल किया था तब बहुत कम लोग ईमेल का इस्तेमाल करते थे। उन्होंने कहा कि तब मेरे पास डिजिटल कैमरा था और मैंने आडवाणी जी की रंगीन फोटो ली थी, जिसे देखकर वो हैरान हो गए और कहा कि आज मेरी रंगीन तस्वीर कैसे छपी। उस समय कैमरे का साइज बड़ा हुआ करता था।

पीएम मोदी के इस बयान की क्लिप सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही है और लोग तरह-तरह की प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

एक यूजर्स ने लिखा कि Nikon कंपनी ने साल 1987 में पहला डिजिटल कैमरा बेचा था और कमर्शियल ईमेल 1990-95 में शुरू की गई थी।

कांग्रेस नेता दिव्या स्पंदना ने ट्विटर पर लिखा कि सवाल ये है कि अगर 1988 में उनकी ईमेल आईडी थी, जबकि पूरे विश्व में नहीं थी तो उन्हें ईमेल कौन भेजता था।

विकिपीडिया की मानें तो, साल 1978 में भारतीय अमेरिकी वीए शिवा अय्यदुरई ने एक कंप्यूटर प्रोग्राम तैयार किया जिसे 'ईमेल' कहा गया। इसमें इनबॉक्स, आउटबॉक्स, फोल्डर्स, मेमो, अटैचमेंट्स आप्शन थे।

30 अगस्त 1982 को अमेरिकी सरकार ने अय्यदुरई को आधिकारिक रूप से ईमेल की खोज करने वाले के रूप में मान्यता दी। साल 1990 मे अमेरिका और भारत के बीच पहला आधारित ईमेल हुआ था।

From around the web