दलाली करने वाली कंपनी में हिस्सेदार थे राहुल गांधी: अरुण जेटली

 
दलाली करने वाली कंपनी में हिस्सेदार थे राहुल गांधी: अरुण जेटली
केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राहुल गांधी पर हमला बोला है। आरोप है कि राहुल गांधी के बिजनेस पार्टनर को यूपीए कार्यकाल के तहत रक्षा ऑफसेट कांट्रैक्ट मिला था। कथित तौर पर राहुल गांधी दलाली करने वाली कंपनी में हिस्सेदार थे।

जेटली ने कहा, यह एक ऐसे शख्स की कहानी है जो रक्षा सौदा करने का इच्छुक है और आज भारत का पीएम बनने की इच्छा रखता है। यह एक गंभीर आरोप है। उलरिक मैकनाइट, जो कि राहुल गांधी का बिजनेस पार्टनर और एक अमेरिकन नागरिक है, वह राहुल जी के ‘सोशल गैंग’ का सदस्य है।

अरुण जेटली ने यह पलटवार राहुल गांधी के बिजनेस पार्टनर उलरिक मैकनाइट को यूपीए सरकार के कार्यकाल के दौरान ऑफसेट्स डिफेंस कांट्रैक्ट के जरिए फायदा पहुंचाने के कथित खुलासे के बाद किया है।

एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि यूपीए सरकार के दौरान राहुल गांधी के पूर्व बिजनेस पार्टनर यूलरिक मैकनाइट की सहयोगी कंपनियों को फ्रांस की नेवल ग्रुप कंपनी के ऑफसेट पार्टनर के रूप में डिफेंस कांट्रैक्ट मिला था। यह कांट्रैक्ट स्कॉर्पियन सबमरीन को लेकर हुआ था।

इस कथित खुलासे के बाद भाजपा एक बार फिर से आक्रामक हो गई है। जेटली ने कहा, “28 मई 2002 को भारत में बैकऑप्स प्राइवेट लिमिटेड नाम की एक कंपनी बनी। राहुल गांधी और प्रियंका गांधी इसके डॉयरेक्टर बने। 21 अगस्त 2003 को ब्रिटेन में भी इसी नाम की एक कंपनी बनी। इसके डॉयरेक्टर राहुल गांधी और एक अमेरिकी नागरिक यूलरिक मैकनाइट बने।”

From around the web