अभद्र नारे को छत्तीसगढ़ से जोड़ रहे राहुल गांधी ने प्रदेश का अपमान किया: भाजपा

 
अभद्र नारे को छत्तीसगढ़ से जोड़ रहे राहुल गांधी ने प्रदेश का अपमान किया: भाजपा
रायपुर। भारतीय जनता पार्टी प्रदेश प्रवक्ता संजय श्रीवास्तव ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के उस बयान को छत्तीसगढ़ का खुला अपमान बताया है, जिसमें उन्होंने 'चौकीदार चोर है' नारे को छत्तीसगढ़ से जोड़ा है।

भाजपा प्रवक्ता श्रीवास्तव ने कहा कि जिस छत्तीसगढ़ ने कांग्रेस अध्यक्ष के झांसे में आकर भारी बहुमत से कांग्रेस की सरकार बनाई, उसी छत्तीसगढ़ से 'चौकीदार चोर है' के नारे को जोड़कर राहुल गांधी ने अपने असली राजनीतिक चरित्र का परिचय दिया है।

कोर्ट की फटकार और बाद में अवमानना के लिए सुप्रीम कोर्ट से नि:शर्त माफी मांगने वाले राहुल गांधी ने अपने दिमागी फितूर से उपजे नारे को छत्तीसगढ़ के मत्थे मढऩे की शर्मनाक कोशिश की है। श्रीवास्तव ने कहा कि कैलाश मानसरोवर के बहाने चीनी नेताओं से मुलाकात करके लौटने के बाद ही राहुल गांधी ने पहली बार देश के प्रधानमंत्री के लिए 'चौकीदार चोर है' जैसी टिप्पणी की थी।

क्या इससे पहले देश में कहीं भी इस तरह के नारे लगे? राहुल गांधी ने देश को अपने राजनीतिक झूठ परोसकर ये नारे लगवाए। छत्तीसगढ़ का राजनीतिक परिवेश सामंजस्य और सौहाद्र्र का रहा है, और सामान्यत: प्रतिकूल परिस्थिति में भी प्रदेश का कोई भी नागरिक इस तरह की अभद्र टिप्पणियां देश के प्रधानमंत्री के लिए तो नहीं ही करता।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि अब कोर्ट ने जब उनसे माफी मंगवाई तब उन्हें अपने राजनीतिक फितूर से हो रहे नुकसान का अहसास हुआ है और चूंकि छत्तीसगढ़ में मतदान हो चुका है, इसलिए उन्होंने अपने शर्मनाक नारे को छत्तीसगढ़ के मत्थे मढऩे का काम किया है, ताकि कांग्रेस को नुकसान न हो। अपने इस राजनीतिक चरित्र के प्रदर्शन के साथ राहुल गांधी ने छत्तीसगढ़ का जो खुला अपमान किया है, उसके लिए उन्हें अविलंब छत्तीसगढ़ से नि:शर्त क्षमा मांगनी चाहिए। राहुल गांधी यह याद रखें कि छत्तीसगढ़ के लोग अपने मत्थे मढ़े गए झूठ और अपमान को कभी भूलते नहीं और इसका माकूल जवाब उनको छत्तीसगढ़ हर बार देता रहेगा।

From around the web