शबे बराअत 20 को, कब्रिस्तान में तैयारियां शुरू

 
शबे बराअत 20 को, कब्रिस्तान में तैयारियां शुरूमुस्लिम कब्रिस्तान इंतेजामिया कमेटी की बैठक मुस्लिम कब्रिस्तान के हॉल में रविवार को रखी गई। इस बैठक में कमेटी के ओहदेदार व मेम्बर शामिल हुए। इस दौरान जानकारी दी गई कि चांद की तस्दीक हो चुकी है और शबे बराअत 20 अप्रैल (14 शाबान) को मनाई जाएगी। इसे देखते हुए कब्रिस्तान में साफ-सफाई, रंग-रोगन रोशनी का काम को अंजाम दिया जा रहा है। इसके लिए जिम्मेदारियां बांट दी गई है। 20 अप्रैल को सुबह 8 से 10 बजे तक अपने दिवंगत परिजनों के इसाले सवाब के लिए कुरानख्वानी, दरूदख्वानी व इज्तेमाई दुआ रखी गई है। जिसमें भिलाई की आवाम सहित मस्जिदों के इमाम, मुदर्रिस और मदरसे के बच्चे हजारों की तदाद में शामिल होंगे। प्रोग्राम को सफल बनाने के लिए मस्जिदों में एलान, प्रचार-प्रसार, वाट्सअप संदेश भेजा जा रहा है। साथ ही साथ इस्लामी मां-बहनों से भी दरूद शरीफ, कलमा, कलाम पाक की तिलावत पढ़कर इंतेजामिया कमेटी तक पहुंचाने या मस्जिद के इमाम तक पहुंचाने की अपील की जा रही है। इंतेजामिया ने वाट्सअप नं. 7828061919, 8871341346 भी इसके लिए जारी किया है। 20 अप्रैल की शाम इसलाहे मुआशरा कांफ्रेंस का आयोजन किया गया है। इस कांफ्रेस में हजरत सैय्यद कौसर रब्बानी बांदा यूपी व हजरत शोएब रजा आसवी इलाहाबादी कौम से खिताब फरमायेंगे। नातिया कलाम पढऩे सैय्यद तेग अली नागपुरी, फैसल रिजवी रयावी बिहार, रहबरन नेपाली मौजूद रहेंगे। जलसे की निजामत नकीबे छत्तीसगढ़ मौलाना मोहियुद्दीन फरमाएंगे।
शबे-बराअत पर हजारों की तादाद में लोगों के पहुंचने की संभावना है, ऐसे में इंतेजामिया कमेटी ने निगम,जिला व पुलिस प्रशासन से तमाम जरूरी कदम उठाने अपील की है। इसके लिए मांग पत्र भी सौंपा जाएगा। जिला व पुलिस प्रशासन से कब्रिस्तान पहुंच मांर्ग पर 20 अप्रैल को शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक चार पहिया वाहनों का आवागमन बंद रखने और मार्ग परिवर्तित करने की मांग भी की गई है। शबे-बराअत की इस तैयारी बैठक में कब्रिस्तान कमेटी के सदर शमशीर कुरैशी, अब्दुल वहीद, मो. जाकिर,निजामुद्दीन खान, हफीज खान, मिर्जा मुकीम बेग, मुन्ना खान,मो. सलीम,शादाब,मो. शमीम, अमीन, अतीक, मोहम्मद, सईद, अकबर, फिरोज, असलम, कदीर रजा,वसीम, सैयद, खुर्शीद, नासिर, सलीम, शेख फैय्याज,जुनैद,आसिफ कादरी,अज्जू चौहान, शब्बीर कुरैशी और साजिद सहित तमाम ओहदेदार मौजूद थे। 

From around the web