किन्नर ही निकला सोनू किन्नर का हत्यारा

 
किन्नर ही निकला सोनू किन्नर का हत्यारा
दुर्ग।  बच्चा तस्करी के आरोप में महीनेभर पहले गिरफ्तार किन्नर (थर्ड जेंडर) छाया उर्फ सोनू की हत्या की गुत्थी पुलिस ने सुलझा ली है। आरोपी कागज किन्नर, उर्फ शंकर बुद्धे, पिता गंगा राम बुद्धे, उम्र 30 ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि उसने पैसों के लेन देन के चक्कर में किन्नर छाया को मौत के घाट उतार दिया। सोमवार को एसपी विवेक शुक्ला ने बताया कि आरोपी और मृतक छाया एक ही मोहल्ले में रहते थे। घटना वाले दिन आरोपी ने छाया को घर पर रात का खाना खाने के लिए बुलाया। दोनों ने जमकर शराब पी। इसके बाद ब्लेड और चाकू से वार कर उसकी हत्या कर दी। किन्नर काजल ने बताया कि छाया ने दो साल पहले करीब 70 हजार रुपए उधार लिए थे। काफी दिनों से वह पैसे नहीं दे रही थी। इसी बात को लेकर विवाद हुआ और उसने तैश में आकर उसकी हत्या कर दी।
झाडिय़ों में मिली थी लाश 
रविवार सुबह किन्नर छाया की लाश राजीव नगर के तालाब के किनारे झाडिय़ों के पास बोरी मे लिपटी मिली थी। गला रेत कर उसकी हत्या की गई थी। पेट में आधा दर्जन वार करने के निशान थे। मृतक किन्नर के हाथ बंधे हुए थे। पुलिस को शक था कि आरोपियों ने पहले किन्नर के हाथ बांधे उसके बाद हत्या को अंजाम दिया । हत्या के बाद लाश पहले कपड़े में लपेटा गया और बोरी में भरकर फेंक दिया गया। पहले पुलिस इसे किन्नरों के दो गुटों के बीच रंजिश मान कर जांच कर रही थी। पुलिस ने 2 किन्नर समेत 4 संदेहियों को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ भी किया। गया नगर निवासी किन्नर छाया बच्चा तस्करी के आरोप में पखवाड़े भर जेल में रहने के बाद 12 दिन पहले जमानत पर रिहा हुई थी।
मृतक डेढ़ साल की बच्ची की तस्करी की आरोपी 
मृतक किन्नर छाया उर्फ सोनू पर डेढ़ साल के बच्चे की तस्करी का आरोप है। कोतवाली पुलिस ने उसके खिलाफ बच्चा तस्करी का प्रकरण दर्ज किया था। फर्जी गोदमाना की आड़ में बच्चा तस्करी के खुलासे के बाद छाया को पुलिस ने 1 सितंबर को गया नगर के झंडा चौक से उसके किराए के घर से गिरफ्तार किया था। उसके पास से डेढ़ साल का बच्चा मिला था। किन्नर ने बच्चे को उसकी मां मोना सागर के हमेशा नशे की हालत मे रहने के कारण रायगढ़ से उठा लाने की जानकारी पुलिस को दी थी।

From around the web