महबूबा मुफ्ती की पार्टी की रैली में टॉय गन के साथ नजर आए समर्थक

 
महबूबा मुफ्ती की पार्टी की रैली में टॉय गन के साथ नजर आए समर्थक
नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर में 18 अप्रैल को होने वाले दूसरे चरण के मतदान के मद्देनजर राज्य में राजनीतिक गतिविधियां बढ़ गई है। सभी पार्टियों के उम्मीदवार रैली, सभा और रोड शो में व्यस्त हैं। इन रैलियों के बीच महबूबा मुफ्ती की पार्टी पीडीपी की एक रैली से हैरान करने वाला एक वीडियो सामने आया है।

राज्य के बड़गाम जिले में आयोजित पीडीपी की रैली में समर्थक टॉय गन के साथ नजर आए। यह वाकया तब सामने आया है जब महबूबा मुफ्ती ने राज्य से अनुच्छेद 370 और 35 ए हटाने की बात भाजपा के घोषणापत्र में शामिल करने पर कड़ी आपत्ति जताई है। ये दोनों अनुच्छेद राज्य के लोगों को विशेषाधिकार प्रदान करते हैं।

पीडीपी की रैली में टॉय गन के प्रदर्शन पर भारतीय जनता पार्टी ने शनिवार कड़ी आपत्ति जताई है। भाजपा ने महबूबा मुफ्ती के ऊपर ‘गन कल्चर’ को बढ़ावा देने का आरोप लगाया है। साथ ही चुनाव आयोग से आग्रह किया है कि उन्हें अनंतनाग लोकसभा सीट से अयोग्य घोषित किया जाए।

भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता अल्ताफ ठाकुर ने आरोप लगाया कि पीडीपी समर्थक बड़गाम के चादौरा में महबूबा मुफ्ती के नेतृत्व में होने वाली पीडीपी की रैली के दौरान टॉय पिस्तौल और एके-47 दिखा रहे थे। उन्होंने महबूबा मुफ्ती के ऊपर आतंकवाद को बढ़ावा देने का भी आरोप लगाया।

ठाकुर ने कहा कि यह दुर्भाग्य है कि सत्ता के लालच में महबूबा आतंकी कार्ड खेल रही थी। उन्होंने कहा, “इस तरह से पीडीपी कश्मीर में गन कल्चर को बढ़ावा दे रही है ताकि लोगों को बेवकूफ बनाकर उनसे वोट लिया जाए।” ठाकुर ने कहा कि मुख्य निर्वाचन अधिकारी और भारत के चुनाव आयोग को प्राथमिकता पर इस मुद्दे को देखना चाहिए और नामांकन पत्र को रद्द करके तुरंत पीडीपी अध्यक्ष को अयोग्य घोषित करना चाहिए। भाजपा गन कल्चर को बढ़ावा देने वाले हर कदम का विरोध करेगी।

From around the web